हिमाचल : बारिश और बाढ़ की चपेट में आने से 8 लोगों की मौत, प्रदेश के 323 सड़के क्षतिग्रस्त

flood

शिमला : उत्तर भारत समेत देश के कई हिस्सों में हो रही लगातार बारिश की वजह से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। भारी बारिश की चलते कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात बन चुके है। इसी तरह भारी बारिश के कारण हिमाचल प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हुए हादसों में आठ लोगों की मौत हुई है। बाढ़ की वजह से प्रदेश में कई जगहों पर भूस्‍खलन की घटना सामने आई है, जिसकी वजह से 323 मार्ग और 5 राष्ट्रीय राजमार्ग क्षतिग्रस्त हुए है। बताया जा रहा है कि इन मार्गो पर वाहनों के आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। हिमाचल के अलावा उत्तराखंड और राजस्‍थान में भी भारी बारिश और बाढ़ की वजह से लोगों का जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

बारिश की वजह से स्कूल और कॉलेज बंद

मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में अब तक सबसे अधिक 118 एमएम बारिश दर्ज की गई है। वहीं दूसरे स्‍थानों की बात करें तों धर्मशाला में 115, डलहौजी और चंबा में 73 एमएम बारिश दर्ज किया गया है। चंबा और कांगड़ा समेत अन्य स्‍थानों पर जिला प्रशासन ने भूस्‍खलन की जानकारी देने के लिए वॉट्सऐप ग्रुप बनाया है। साथ ही अधिकारियों ने बताया कि लाहुल-स्पिति जिले में मनाली की ओर जाने वाली हाइवे पर कोकसर के निकट पुल क्षतिग्रस्त होने की वजह से वहां वाहनों के आवाजाही पर राेक लगा दी गई है। इसके अलावा मनाली हाइवे पर भूस्‍खलन की स्थिति पैदा होने से यातायात प्रभावित हुआ है। वहीं लगातार हो रही भारी बारिश को देखते हुए चंबा और कांगड़ा जिले में सभी स्कूलों और कॉलेजों को बंद कर दिया गया है।

‌बारिश में बह गई सड़क

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से बस स्टैंड के समीप एस सड़क पानी में बह गया, जिसके वजह से यहां  वाहनों के आवाजाही पर रोक लग गई है। इसके अलावा कई सड़कों पर पहाड़ी पत्‍थर के गिरने और भूस्‍खलन की वजह से वे क्षतिग्रस्त हो गई हैं, जिनपर प्रशासनिक स्तर पर कार्य किया जा रहा है ताकि परिवहन व्यवस्‍था को सामान्य किया जा सके।

 उत्तराखंड में भी बारिश का कहर

हिमाचल प्रदेश की तरह उत्तराखंड में भी भारी बारिश का कहर जारी है जिससे लोगों का जीना का मुश्किल हो गया है। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में भारी नुकासान हुआ है, यहां सबसे ज्यादा लोग प्रभावित हुए है। प्रशासन की ओर से राहत बचाव के कार्यो के लिए एसडीआरएफ, रेड क्रॉस, आईटीबीपी और एनडीआरएफ की टीमों को तैनात किया गया है। बारिश और बाढ़ में फंसे लोगों को राहत बचाव के कर्मियों ने सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

bangladesh

भारत में अवैध ढंग से रह रहे अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए तैयार है बांग्लादेश

ढाका : बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए के अबदुल मोमेन ने भारत से अपील करते हुए कहा कि यदि उनके यहां अवैध रूप से रह आगे पढ़ें »

rahul

स्मृति की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने मांगा राहुल के बयान पर जवाब

नयी दिल्ली : राहुल गांधी के ‘रेप इन इंडिया’ बयान पर चुनाव आयोग ने झारखंड अधिकार‌ियों से जवाब मांगा है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आगे पढ़ें »

momota

महिलाओं के खिलाफ हिंसा को ‘न’ कहें : ममता बनर्जी

नवंबर में थोक महंगाई दर में 0.58% की बढ़ोत्तरी, प्याज की कीमतों में सबसे ज्यादा वृद्धि

अपने पुराने यूएएन नंबर को इस तरह करें नए में ट्रांसफर

dhankhad

ममता की रैली पर धनखड़ ने कहा, असंवैधानिक और भड़काऊ कार्य करने से बचें

court

जामिया हिंसा पर मंगलवार को होगी सुनवाई, पहले रोके जाएं हिंसक प्रदर्शन- सुप्रीम कोर्ट

aligadh

नागरिकता कानून : अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों का प्रदर्शन, 6 जिलों में धारा 144 लागू, 500 के खिलाफ केस दर्ज

ordoan

ट्रम्प ने तुर्की पर प्रतिबंध बढ़ाए, तो देश में मौजूद अमे‌‌रिकी बेस बंद होंगे : राष्ट्रपति अर्दोआन

अमेरिका -चीन ट्रेड डील सहमति के बाद लौटी शेयर बाजार की रौनक

ऊपर