होली पर खाएं जी भर गुझ‍िया और मिठाई, इन टिप्‍स को फॉलो करने पर नहीं बढ़ेगा वजन

कोलकाताः रंगों के दौरान घर में कई तरह के पकवान और मिठाइयां बनती हैं। अधिकांश घरों में गुझिया, चाट, पापड़ी सहित कई आइटम बनते हैं। इतने पकवानों को देखकर खुद को कंट्रोल कर पाना मुश्किल होता है। दरअसल, त्योहारों के दौरान अनहेल्दी खाद्य पदार्थ और अधिक ऑयली और मीठा भोजन करने से वजन बढ़ना स्वाभाविक है। यदि आप अपनी कैलोरी को कम करना चाहते हैं और साथ ही फिट भी रहना चाहते हैं, तो आइए जानते हैं वजन कंट्रोल करने के लिए होली पर कौन से काम करें।
​खाने की प्लानिंग करें :
त्योहारों के दौरान ऐसे खाद्य पदार्थ खाएं कि आपकी कैलोरी बर्न होती रहे। यदि आप स्पेशल लंच करना चाहते हैं, तो हल्का ब्रेकफास्ट करें। इसके साथ ही फिट और हेल्दी रहने के लिए रात का खाना भी हल्का खाएं।
​अधिक न खाएं
गुझिया देखकर हर किसी के मुंह में पानी आ जाता है। पापड़ी हल्की दिखती है इसलिए लोग इसे बार-बार खाते हैं। लेकिन वजन को कंट्रोल करने के लिए आपको अपने खाने की आदत को नियंत्रित करना होगा। कम कैलोरी वाले खाद्य पदार्थ खाएं, ताकि आपका पेट और स्वास्थ्य दोनों ठीक रहे।
​पानी पिएं
अधिक भोजन करने से बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में सलाद खाएं और खूब सारा पानी पिएं। फलों के जूस का सेवन एक बेहतर विकल्प है। इसके साथ ही पानी और शहद, खीरा और रसदार फलों का सेवन करना फायदेमंद है।
​एक्सरसाइज

त्योहारों के दौरान बहुत कम लोग एक्सरसाइज करते हैं। लेकिन अपनी बॉडी को एक्टिव रखने के लिए एक्सरसाइज करने के लिए समय जरूर निकालें। इससे त्योहारों के दौरान खाए गए खाद्य पदार्थों से जमा कैलोरी बर्न होगी और वजन नहीं बढ़ेगा।
​हेल्दी स्नैक

होली के दौरान फ्राइड फूड, स्प्रिंग रोल और कटलेट का सेवन करने से बचना चाहिए। इसके बजाय ग्रिल्ड स्नैक्स जैसे कबाब, पनीर टिक्का और रवा इडली खाएं। इसके अलावा कम कैलोरी वाली सामग्री का इस्तेमाल करके अपने लिए गुझिया खुद बनाएं।
इन उपायों को अपनाने से होली पर अपने वजन को नियंत्रित रखा जा सकता है। कम कैलोरी युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें और स्वस्थ रहें।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

फिरहाद के वीडियो को लेकर मचा बवाल

फिरहाद ने वीडियो को बताया झूठा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : छठवें चरण के चुनाव से पहले राज्य के मंत्री फिरहाद हकीम के एक वीडियो को लेकर बवाल आगे पढ़ें »

कोरोना के दूसरे वेब ने बदला चुनाव प्रचार का ट्रेंड

बंद की गयीं रैलियां, टेली प्रचार पर दिया जा रहा जोर उम्मीदवार कह रहे घर पर रहिए, हमारी आवाज आप तक पहुंच जाएगी देर आये दुरुस्त आये सन्मार्ग आगे पढ़ें »

ऊपर