कम कोलेस्ट्राल से भी दिल का दौरा

रक्त में कोलेस्ट्रॉल का अधिक बढ़ना दिल के दौरे का कारण बनता है किंतु इसका कम होना हृदयाघात का कारण भी बन सकता है। रक्त में कोलेस्ट्राल के अधिक बढ़ने से दिल का दौरा पड़ता है, यह अनेक अवसरों पर देखा-परखा गया है। इस अधिक कोलेस्ट्राल की स्थिति में एलडीएल कोलेस्ट्राल मस्तिष्क की धमनियों में रक्त का थक्का बन वहां फंस जाता है जिससे यह क्लाट दिल के दौरे का कारण बनता है। इसे 200 के आसपास रहना चाहिए किंतु उसके अत्यंत कम होने पर रक्त धमनियां मजबूत न होकर अत्यंत निर्बल हो जाती हैं। ऐसी स्थिति भी दिल के दौरे का कारण बनती हैं इसलिए शरीर में 200 के आसपास कोलेस्ट्राल की उपस्थित जरूरी हो जाती है। इस नए निष्कर्ष ने पूर्व की आम धारणा को शक के घेरे में ला खड़ा किया है। अतएव कम कोलेस्ट्राल को दिमागी दौरे को रोकने में सहायक नहीं अपितु खतरनाक बताया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अरूप राय को अस्पताल में देखने पहुंचे राज्यपाल व राजीव

कोलकाता : राज्य के सहकारिता मामलों के मंत्री अरूप राय हृदय रोग की शिकायतों को लेकर गत दो दिनों से कोलकाता के एक अस्पताल में आगे पढ़ें »

राज्यपाल मुर्मू ने किया डिजिटल ई-ईपीआइसी पोर्टल का शुभारंभ

रांचीः भारत निर्वाचन आयोग के तत्वावधान में रांची यूनिवर्सिटी के आर्यभट्ट सभागार में राष्ट्रीय मतदाता दिवस का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू आगे पढ़ें »

ऊपर