गैस के कारण हो रहा है सिरदर्द? इन घरेलू चीजों से मिलेगी राहत

कोलकाता : आपके सिर में दर्द कई कारणों की वजह से हो सकता है। सिर में होने वाले दर्द के कई कारणों में से एक गैस भी है। पेट में गैस बनने के कारण भी सिरदर्द की समस्या होती है। बहुत से लोगों को गैस्ट्रिक दिक्कतों और एसिडिटी के चलते भी सिरदर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है। गैस की वजह से होने वाला सिरदर्द काफी दर्दनाक साबित होता है क्योंकि इसमें व्यक्ति एक साथ सिरदर्द और गैस की समस्या से जूझ रहा होता है। ऐसे में अगर गैस और सिरदर्द का समय रहते इलाज ना कराया गया तो यह दिक्कत और भी ज्यादा बढ़ सकती है और आपको काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में आइए सबसे पहले जानते हैं गैस्ट्रिक सिरदर्द क्या होता है और इसे किस तरह से ठीक किया जा सकता है।
गैस के कारण किस तरह होता है सिरदर्द
गैस्ट्रिक सिरदर्द अपच या अन्य सामान्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं जैसे एसिडिटी और गैस के कारण होता है। हमारे पेट और दिमाग के बीच एक गहरा लिंक होता है। बहुत से लोगों को गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम में समस्याओं के कारण सिरदर्द होता है। इसका कारण यह है कि जरूरी मात्रा में खाना आपके शरीर तक नहीं पहुंच पा रहा है, जिसके कारण आपको सिरदर्द होने लगता है।
सिरदर्द से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय
नींबू पानी- नींबू सिरदर्द से छुटकारा पाने का एक बेहतरीन उपाय है क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। गुनगुने पानी में एक नींबू का रस मिलाकर पीएं। यह गैस के कारण होने वाले सिरदर्द को को रोकने में मदद करता है।
छाछ- अगर पेट में गैस बनने के कारण आपका सिरदर्द हो रहा है तो दिन में दो बार छाछ का सेवन करने से आपको काफी आराम मिल सकता है।
तुलसी के पत्ते चबाएं- रोजाना 7-8 तुलसी के पत्तों को चबाने से सिरदर्द कम होता है और आपकी मांसपेशियों को आराम मिलता है। तुलसी के पत्तों में एनाल्जेसिक गुण होते हैं जो आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होते हैं।
गैस्ट्रिक की समस्या से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय
इन ड्रिंक्स का करें सेवन- गैस, एसिड रिफ्लक्स और कब्ज की समस्या से छुटकारा पाने के लिए कुछ ड्रिंक्स आपकी मदद कर सकती हैं जैसे खीरे का रस, नींबू पानी, अदरक का पानी, नारियल पानी, अजवाइन का पानी और सौंफ पानी। ये ड्रिंक्स पेट की कोशिकाओं को ठीक करने में मदद करती हैं।
गार्लिक मिल्क- लहसुन का दूध एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है और गैस, पेट में ऐंठन, सूजन और अपच को कम करने में मदद करता है। अगर आप हार्ट डिजीज या गठिया से पीड़ित हैं, तब भी आप लहसुन के दूध का सेवन कर सकते हैं।
पुदीना- पुदीना एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है। यह आपके पेट और गले में जलन को शांत करता है और तुरंत आराम दिलाता है।
डाइट- अपनी रेगुलर डाइट में व्हाइट राइस, ब्राउन राइस, रेड राइस, पोहा, साबूदाना, इड़ली डोसा जैसी चीजों को शामिल करें। साथ ही मूंग, अरहर, और उड़द की दाल को भी डाइट में शामिल करें। ये सभी चीजें आपके पेट के लिए काफी फायदेमंद मानी जाती हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

माल हादसे के मृतकों को क्षतिपूर्ति, दिए जाएंगे…..

मालबाजार: माल नदी का जल स्तर बढ़ने से आयी बाढ़ की चपेट में मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यालय की आगे पढ़ें »

मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक मौत

कोलकाता : महा दशमी की सुबह मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक परिस्थितियों में मौत हो गई। घटना जोड़ासांको आगे पढ़ें »

ऊपर