एयर इंडिया के लिये अगले महीने बोलियां मंगा सकती है सरकार

air india

नयी दिल्ली : एयर इंडिया की शत प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के लिए सरकार अगले महीने प्रारंभिक बोलियां मंगाने की योजना बना रही है। सूत्रों के अनुसार, कुछ निकाय पहले ही एयर इंडिया में दिलचस्पी दिखा चुके हैं। उन्होंने कहा कि बोली मंगाने के दस्तावेज को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इसी महीने के अंत में या अगले महीने बोलियां मंगाई जा सकती है। इसकी निविदा हाल ही में विकसित ई-निविदा प्रणाली से की जाएगी। बता दें कि कंपनी के ऊपर करीब 58 हजार करोड़ रूपये का बकाया है।

नागर विमानन सचिव ने की थी समीक्षा बैठक

नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने कंपनी के निदेशक मंडल की बैठक से पहले एक समीक्षा बैठक की थी। निदेशक मंडल की बैठक 22 अक्टूबर का होने वाली है। एयरलाइन की बैलेंसशीट स्वच्छ करने के लिए करीब 30,000 करोड़ रुपये का कर्ज बांड जारी करके किया जाना है। ये बांड एयरलाइन की विशेष उद्येशीय कंपनी एयर इंडिया एसेट होल्डिंग कंपनी (एआईएएचएल) की ओर से जारी किए जा सकते हैं। बता दें कि इस एयरलाइन के कर्मचारियों की यूनियनें विनिवेश के प्रस्ताव का विरोध कर रही है। उन्हें नौकरी जाने का डर है।

एआईएएचएल का गठल इसलिए किया गया है

एआईएएचएल का गठन इस उद्श्येश्य से किया गया है कि एयरलाइन के क्रियाशल पूंजीगत रिण, तैल-चित्र और कलात्मक वस्तुओं तथा एयर इंडिया की अनुषंगी कंपनियों एयर इंडिया एयर ट्रांसपोर्ट सर्विसेज, एयरलाइन एलाएड सर्विसेज, एयर इंडिया सहित इंजीनियरिंग सर्विसेज और होटल कार्पोरेशन आफ इंडिया के पास पड़ी किसी भी प्रकार की सम्पत्ति को एक जगह किया जा सके। कंपनी अब तक 21,985 करोड़ रुपये बांड से जुटा चुकी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वनडे क्रिकेट में किसी भी स्थान पर बल्लेबाजी को तैयार : रहाणे

नयी दिल्ली : भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे ने कहा कि उनकी अंतररात्मा की आवाज है कि वह एकदिवसीय प्रारूप में राष्ट्रीय टीम में वापसी करेंगे। आगे पढ़ें »

जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की मदद करती रहेगी सरकार : रीजिजू

नयी दिल्ली : खेलमंत्री किरेन रीजिजू ने शनिवार को कहा कि मंत्रालय जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की आर्थिक मदद करता रहेगा क्योंकि देश के लिये खेलते आगे पढ़ें »

ऊपर