गूगल ने आज का डूडल जोसेफ प्लेत्यू को किया समर्पित, इनकी वजह से देख पा रहे फिल्में

doodle

नयी दिल्ली : गूगल ने आज यानि सोमवार को फेनाकिस्टिस्कोप के आविष्कारक बेल्जियन भौतिकशास्‍त्री एंतोनी जोसेफ फर्दिनांद प्लेत्यू की 218वी सालगिरह पर उनके सम्मान में डूडल बनाया है। जोसेफ का फेनाकिस्टिस्कोप एक ऐसा आविष्कार था जिसका इस्तेमाल फिल्म में एनीमेशन लाने के लिए किया जाता था। आज इसी तकनीक के कारण फिल्मों की दुनिया में शानदार फिल्मों का निर्माण हो रहा है। गूगल ने डूडल के बारे में बताया कि प्लेत्यू की शैली दिखाने के लिए हमने एनिमेटेड डिस्क से प्रेरणा ली।

इस काम की वजह से 19वीं सदी के जाने-माने वैज्ञानिक बन गए

बता दें कि ब्रसेल्स में जन्मे 14 अक्टूबर, 1801 को प्लेत्यू के पिता फूलों के चित्र बनाने की कला में माहिर थे। उन्होंने कानून की पढ़ाई करने के बाद फिजियोलॉजिकल ऑप्टिक्स का अध्ययन किया और प्रकाश और रंग का मानव रेटिना पर प्रभाव के विषय पर उनके काम ने उन्हें 19वीं सदी के जाना-माना वैज्ञानिक बना दिया। प्लेत्यू ने अपने शोध प्रबंध में बताया कि प्रकाश, रंग, अंतराल और तीव्रता के अनुरूप रेटिना पर चित्र कैसे बनते हैं।

1832 में इस यंत्र का आविष्कार किया

प्लेत्यू ने अपने इन निष्कर्षों के आधार पर 1832 में स्ट्रोबोस्कोपिक यंत्र का आविष्कार किया जिसमें अलग-अलग दिशाओं में घूमती हुयी दो डिस्क लगी हुयी थी। गूगल के अनुसार बाद में प्लेत्यू ने अपनी आंखों की रोशनी खो दी लेकिन अंधे होने के बाद भी वे वैज्ञानिक के रुप में सक्रिय रहे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर