पहली बार रखने जा रहे हैं गुरुवार व्रत, जो जान लें ये 5 अहम नियम, भूल से भी हो न जाए चूक

कोलकाता :  हिंदू धर्म में सप्ताह का हरदिन किसी न किसी देवी-देवता को समर्पित है जिस तरह सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित है, मंगलवार हनुमान जी को और बुधवार गणेश जी की पूजा का विधान है। उसी तरह गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना और व्रत रखने से भगवान प्रसन्न होते हैं और भक्तों पर कृपा बरसाते हैं। श्री हरि की कृपा से उनकी भक्तों के संकट दूर होते हैं। कहते हैं कि सच्चे दिल से भगवान की पूजा अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं और साथ-साथ दुख विपत्ति को हमेशा के लिए दूर कर देते हैं। अगर आप पहली बार भगवान विष्णु के व्रत रखने की सोच रहे हैं, तो बता दें कि व्रत के कुछ नियम हैं, जिनका पालन करना जरूरी होता है। ग्रंथों में उल्लेख है कि अगर व्रत के दिन नियमों का पालन न किया जाए, तो भगवान विष्णु नाराज भी हो जाते हैं। ऐसे में इन चीजों का हमेशा ध्यान रखें। वैसे बता दें कि भगवान विष्णु को पीला रंग बहुत प्रिय है। इसलिए इस दिन पीले रंग के वस्त्र धारण करें। तो आइए जानें भगवान विष्णु की पूजा आराधना करने में किन-किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए…

गुरुवार के दिन व्रत के समय रखें इन बातों का ध्यानइस दिन शुरू करें व्रत

अगर आप पहली बार गुरुवार का व्रत रखने जा रहे हैं तो पौष माह से गुरुवार व्रत की शुरुआत करें। अगर गुरुवार के दिन पुष्य नक्षत्र हो तो इस दिन व्रत शुरू करना काफी अच्छा माना जाता है। इतना ही नहीं, किसी भी महीने के शुक्ल पक्ष के पहले गुरुवार से व्रत की शुरुआत कर सकते हैं। इसे 16 गुरुवार तक रखना होता है।

केले का सेवन है वर्जित

अगर आप गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा आराधना करते हैं तो उस दिन केले का सेवन भूलकर भी न करें। हिंदू धर्म के अनुसार केले के पेड़ में भगवान विष्णु का वास माना जाता है। इसलिए गुरुवार के दिन केले के पेड़ पर जल अर्पित करें।

पीली चीजों का दान करे

मान्यता है कि गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा आराधना करने के बाद गुड़, पीला कपड़ा, चने की दाल और केला भगवान को अर्पित करने के बाद गरीबों में दान दे दें। कहते हैं इससे भगवान विष्णु की कृपा दृष्टि बनी रहती है। और उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है।

चावल या खिचड़ी भूलकर न खाएं

अगर आप गुरुवार के दिन भगवान विष्णु का व्रत कर रहे हैं, तो उस दिन पीला भोजन ही ग्रहण करें। कहते हैं इससे भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं। इस दिन भूलकर भी काली दाल की खिचड़ी और चावल का सेवन न करें। मान्यता है कि इस दिन चावल खाने से धन हानि होती है। पूजा के दौरान भगवान विष्णु को चावल की जगह तिल अर्पित करें।

गाय को रोटी खिलाएं

धार्मिक ग्रंथों के अनुसार गाय में कई करोड़ देवी-देवताओं का वास होता। शास्त्रों के अनुसार गुरुवार के दिन गाय को रोटी और गुड़ खिलाने से सभी कष्ट दूर होते हैं और जीवन में खुशियां आती हैं।

बाल और नाखून को बिल्कुल ना काटें

मान्यता है कि गुरुवार के दिन नाखून और बाल काटने से कुंडली में मौजूद गुरू कमजोर होता है। वहीं, इससे धन हानि भी होती है। शास्त्रों में कहा गया है कि महिलाओं को इस दिन बाल और कपड़े धोने की भी मनाही होती है। कहते हैं कि ऐसा करने से मान की हानि होती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

तृणमूल सांसद नहीं गये नागालैंड

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस के सांसद प्रनितनिधियों ने नागालैंड का अपना दौरा रद्द कर ​दिया। आज पार्टी के सांसद सुष्मिता देब, शांतनु सेन, अपरूपा पोद्दार आगे पढ़ें »

ऊपर