स्वतंत्रता दिवस पर कुछ यूं दें भाषण, होगी तालियों की बरसात

कोलकाता : 15 अगस्त 2022 को भारत अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस वर्ष केंद्र सरकार द्वारा हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है जिसका असर पूरे देशभर में देखने को मिल रहा है। इस बाबत स्कूल-कॉलेजों और गली मोहल्लों में कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। ऐसे में अगर आप भी स्वतंत्रता सेनानियों की याद में स्कूल, कॉलेजों या आस पास किसी कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं और स्पीच देने की तैयारी कर रहे हैं तो हम आपको बताएंगे कि किस तरह आप एक अच्छा भाषण लिख या बोल सकते हैं। इस बाबत हम आपको टिप्स भी देने वाले हैं।
कैसे लिखें स्पीच
– सबसे पहले स्पीच की शुरुआत नमस्कार या अभिवादन से करें। जैसे- सभा उपस्थित सभी शिक्षकों, छात्रों और सभी लोगों को मेरा प्रणाम।
– 15 अगस्त 1947। यह दिन बड़ा ही खास है। जी हां। यह वही दिन है जिस दिन हमें आजादी मिली थी।
– हमें इस बात का गर्व और अभिमान हमेशा होना चाहिए कि हम स्वतंत्र भारत में जन्मे हैं।
– लेकिन यह आजादी हमे यूं ही नहीं मिली है। इसके पीछे हजारों स्वतंत्रता सेनानियों का बलिदान है।
– नेताजी सुभाष चंद्र बोस, मोहनदास करमचंद गांधी, वीर सावरकर, मंगल पांडे, भगत सिंह और चंद्रशेखर आजाद जैसे न जाने कितने ही क्रांतिकारियों ने स्वाधीनता दिलाने में अलग अलग तरीकों से योगदान दिया है।
– इस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मैं सभी स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करता हूं जिन्होंने भारत को आजाद कराने का सपना देखा। खुद के प्राण उन्होंने न्यौछावर कर दिए ताकि हम एक स्वतंत्रत भारत में सांस ले सकें।
– ऐसे में हर भारतीय को पता है कि आजादी के पीछे ब्रिटिशों ने कितने खून बहाए हैं। ऐसे में तिरंगे का सम्मान और बलिदानियों के सम्मान सभी को करना चाहिए। स्वतंत्रता दिवस के इस पावन पर्व की आप सभी को ढेर सारी शुभकामनाएं। जय हिंद, जय भारत।
– स्वतंत्रता दिवस भाषण लिखते समय ध्यान दें कि आपका भाषण छोटा हो लेकिन प्रभावी हो।
– भाषण को लिखने के बाद इतनी बार पढ़ें और उसे महसूस करें कि स्टेज पर जाकर आपको दोबारा इसे देखने या पढ़ने की जरूरत न हो।
– स्वतंत्रता दिवस भाषण की भाषा सरल और सहज होनी चाहिए ताकि लोग आसानी से समझ सकें।
– स्वतंत्रता दिवस के भाषण की तथ्यातमक जांच अवश्य करें। कुछ भी ऐसे तथ्य न लिखे जो प्रमाणिक न हों या विवादित हों।
– भाषण को सरल बनाएं ताकि लोग आपसे जुड़ाव महसूस कर सकें।
– स्वतंत्रता दिवस के भाषण में भावुकता होनी चाहिए।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

माल हादसे के मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति, दिए जाएंगे…..

मालबाजार: माल नदी का जल स्तर बढ़ने से आयी बाढ़ की चपेट में मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यालय की आगे पढ़ें »

मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक मौत

कोलकाता : महा दशमी की सुबह मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक परिस्थितियों में मौत हो गई। घटना जोड़ासांको आगे पढ़ें »

ऊपर