वर्जिनिटी खोने के बाद लड़कियों में आते हैं ये बदलाव, क्या आपको पता है?

कोलकाता : क्या आप जानते हैं कि जब आप यौन संबंध बनाते हैं तो उसके बाद आपके शरीर में कई तरह के बदलाव आ जाते हैं। हालांकि बहुत से लोगों को इन बदलावों के बारे में नहीं पता होता। लेकिन जब कोई महिला या पुरुष पहली बार शारीरिक संबंध बनाता है तो उसे हल्का दर्द का एहसास भी होता है। इसे प्यार भरा दर्द भी कहा जाता है। जब भी लोग पहली बार शारीरिक संबंध बनाते हैं तो उनको अलग-अलग तरह के अनुभव होते हैं। आइए जानते उन्हीं अहसासों के बारे में…
​स्तनों का बड़ा और ठोस होना
जब कोई महिला अपनी वर्जिनिटी (कौमार्य) खोती है तो उसके बाद उनके शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं। जैसे कि उनके स्तन उत्तेजना के वक्त बड़े हो जाते हैं। कहा जाता है कि उत्तेजना के समय महिलाओं के स्तन 25% तक बड़े हो सकते हैं। यानी कि अगर आपकी ब्रा पहले से ही बहुत टाइट है तो आपको थोड़ी-सी ढीली ब्रा खरीदनी पड़ सकती है। इतना ही नहीं, सेक्स के समय महिलाओं के स्तन ठोस भी हो जाते हैं। हालांकि, यह कुछ समय के लिए ही होता है। लेकिन सेक्स करने के बाद आपके स्तन पहले से थोड़े बड़े जरूर दिखाई देंगे।
​निप्पल हो जाएंगे संवेदनशील
जब आप अपनी वर्जिनिटी खो देते हैं तो उसके बाद आपके शरीर में एक बदलाव यह भी आता है कि आपके निप्पल ज्यादा संवेदनशील हो जाएंगे। यानी कि जब भी आप उत्तेजित होंगे, तो हो सकता है कि आप के निप्पल में हल्का दर्द का एहसास हो। ऐसा इसलिए होने लगता है क्योंकि जब महिलाएं सेक्स करती हैं तो इससे महिलाओं के निप्पलों में ज्यादा तेजी से रक्त प्रवाह होने लगता है। जिसके बाद आपके निप्पल पहले से ज्यादा कठोर हो जाएंगे। इस तरह का बदलाव आपके शरीर में आ जाता है
खून का बहना
लड़कियां जब पहली बार सेक्स करती हैं तो हाइमन टूटने की वजह से उनकी योनि से खून बहने लगता है। हालांकि, ऐसा हर महिला के साथ नहीं होता। कुछ महिलाओं का सेक्स से पहले ही हाइमन टूट चुका होता है। कई बार ऐसा एक्सरसाइज करते हुए हो सकता है या जो लड़कियां खेलकूद में ज्यादा रहती हैं, उनका भी हाइमन अक्सर पहले ही टूट जाता है। वर्जिनिटी खोने के बाद महिलाओं में ऐसा होना बहुत ही सामान्य होता है।


पीरियड की डेट बदल सकती है
वर्जिनिटी खोने के बाद ऐसा अक्सर देखा जाता है कि महिलाओं का वजाइनल क्षेत्र लचीला हो जाता है। शारीरिक संबंध बनाने के बाद महिलाओं की वजाइनल वॉल्स और ज्यादा फैल जाती हैं और क्लिटोरिस का आकार भी बढ़ जाता है। अगर आप बार-बार सेक्स करेंगे, तो यह और ज्यादा लचीला हो जाएगा। यह बदलाव पहली बार सेक्स करने के बाद से ही आप में दिखने लगेगा। हालांकि, इसका फायदा यह होता है कि इसके बाद सेक्स करने में कम दर्द महसूस होगा। हालांकि, पहली बार सेक्स करने में आपको थोड़े दर्द का अहसास होता है।​
वजाइनल क्षेत्र हो जाएगा लचीला
कोई महिला पहली बार सेक्स करती है तो उनके पीरियड्स की टाइमिंग बदल सकती है। हो सकता है कि उनके पीरियड्स में देरी हो जाए। ऐसा होना सामान्य माना जाता है। हालांकि, अगर आपके पीरियड 1 हफ्ते से ज्यादा देर तक भी नहीं हुए हैं, तो आपके लिए प्रेगनेंसी टेस्ट कराना जरूरी हो जाता है। क्योंकि पीरियड्स में ज्यादा देरी होने से प्रेगनेंसी भी ही सकती है। अगर सेक्स के बाद पीरियड 1 हफ्ते से ज्यादा लेट होते हैं, तो हो सकता है कि आप प्रेगनेंट हों।

शेयर करें

मुख्य समाचार

धन वृद्धि के लिए एक कटोरी पानी का टोटका जरूर अपनाए !

कोलकाता : घर में काम आने वाली छोटी-छोटी चीजें ऐसी होती हैं जिनसे घर में सुख-समृद्धि आती है। ये चीजें बड़े काम की हैं, इनके आगे पढ़ें »

माघ पूर्णिमाः अच्छी किस्मत के लिए आज करें ये काम, घर आएंगी खुशियां

कोलकाताः हिन्दू धर्म में पूर्णिमा तिथि का विशेष महत्व होता है। कहा जाता है कि इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करने, दान और ध्यान आगे पढ़ें »

ऊपर