लड़की ने पहले किया मंगेतर को अगवा फिर जबरन मंदिर ले जाकर…

मेरठ: बिजनौर में एक लड़की ने गुरुवार को कोर्ट जाते समय गन प्वाइंट पर भाई और दोस्त के साथ अपने मंगेतर (जज के स्टेनो) का अपहरण कर लिया। वह जबरन मंदिर ले जाकर शादी करने के लिए लाल जोड़ा भी साथ लेकर आई थी। रात में पुलिस ने शादी करने की कोशिश करते वक्त स्टेनो को बरामद कर लिया। लड़की समेत तीनों को गिरफ्तार कर लिया। लाल जोड़ा और तमंचा भी बरामद कर लिया। अमरोहा जिले का निवासी अंकुर सिविल जज जूनियर डिविजन चांदपुर (बिजनौर) के यहां स्टेनो हैं। वह चांदपुर में ही किराए पर मकान लेकर रहता है। अंकुर का गुरुवार को अपने एक साथ क्लर्क प्रदीप के साथ बाइक से सुबह पौने दस बजे कोर्ट जाते समय बिजनौर-बदायूं हाईवे पर कार सवार लोगों ने अपहरण कर लिया था। पुलिस ने उसे देर शाम नजीबाबाद से बरामद कर लिया था।

भाई और दोस्‍त संग रची साजिश
बिजनौर के एसपी एसपी दिनेश सिंह के मुताबिक युवती ने अपने भाई और दोस्त के साथ मिलकर अपहरण की साजिश रची थी। अपहरण के बाद मंदिर में लेकर गए। जबरन शादी करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने मौके पर पहुंचकर गिरफ्तार कर लिया।
पकड़े गए अंकुल, सुमित और प्रियंका ने बताया कि हम लोगों ने मिलकर स्टेनो के अपहरण की साजिश रची थी। प्रियंका से अंकुर की शादी जबरन करवाना चाहते थे। आरोपियों ने बताया कि स्टेनो अंकुर की शादी नूरपुर थाना क्षेत्र के मंडोरा गांव निवासी प्रियंका संग तय हुई थी। सगाई हो गई थी। शादी 25 मई को होनी थी। दोनों मोबाइल पर बात करते थे। एक दिन मोबाइल पर ही दोनों में कहासुनी हो गई। उसके बाद अंकुर ने शादी करने से इनकार कर दिया। प्रियंका शादी करने की जिद पर अड़ी रही। जिद के चलते प्रियंका ने घटना को अंजाम दिया। एसपी दिनेश सिंह के मुताबिक आरोपियों के पास से दो तमंचे और शादी का लाल जोड़ा पुलिस बरामद हुआ। तीनों को अदालत में पेश किया। जहां से जेल भेज दिया गया।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

एसएससी के पूर्व सलाहकारों की जमानत अर्जी खारिज

कोलकाता : एसएससी के दो पूर्व सलाहकार शांतिप्रसाद सिन्हा (एसपी सिन्हा) और अशोक साहा 7 दिनों के लिए सीबीआई की हिरासत में रहेंगे। सीबीआई के आगे पढ़ें »

ऊपर