फरेबी आशिक से माशूका का ‘सॉलिड’ बदला, करनी पड़ गई आधी रात में शादी

बरेली: उत्तर प्रदेश के बरेली से अजब-जगब मामला सामने आया है। यहां एक प्रेमिका प्रेमी के दरवाजे पर धरने पर बैठ गई। उसने जमकर हंगामा किया। इससे घबराकर प्रेमी और उसके परिवार के लोग घर ताला लगाकर भाग गए, लेकिन प्रेमिका घर के सामने बैठी रही। रात में प्रेमी और उसके परिवार वाले घर लौटे। गांव के लोगों की समझाइश और पुलिस कार्रवाई का हवाला दिया। इसके बाद प्रेमी के परिजन मान गए और प्रेमी-प्रेमिका निकाह करा दिया।

दरअसल, बिहार के कटिहार जिले एक की 25 वर्षीय युवती अपनी बढ़ी बहन के यहां शीशगढ़ के गांव में आई थी। वहीं पर पास के गांव धनोली के एक युवक से उसकी मुलाकात हुई। वह शीशगढ़ के गांव में रिश्तेदारी में आया था। यहीं से दोनों में प्रेम प्रसंग हो गया। प्रेमी युवती को शादी का झांसा देकर अपने घर ले आया था। बाद में कई दिन उसके साथ रहा है। इसके बाद युवती को हरियाणा जिले में अपने एक रिश्तेदार के यहां भी ले गया। कुछ दिन रहने के बाद प्रेमी प्रेमिका को वापस उसकी बहन के यहां छोड़ दिया, निकाह के वादे से मुकर गया।

पुलिस आई लेकिन किया कुछ नहीं
उसने प्रेमिका से बातचीत करना बंद कर दी। युवती जब उसे फोन करती तो वह उसे जान से मारने की धमकी देने लगा। इसके बाद प्रेमिका ने पुलिस चौकी पर तहरीर दी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद बीते सोमवार प्रेमिका उसके घर जा पहुंची और दरवाजे पर धरने पर बैठ गई। उसने खूब हंगामा भी किया। इससे डरकर प्रेमी अपने परिजनों के साथ फरार हो गया। युवती ने डायल 112 पर फोन किया तो पुलिस उल्टा युवती पर ही घर जाने का दबाव बनाने लगी।
रात डेढ़ बजे हुए निकाह का फैसला
मगर युवती शादी की मांग पर अड़ी रही। पुलिस भी वहीं बैठी रही। रात करीब डेढ़ बजे गांव के लोगों की भीड़ भी इकट्ठा हो गई। इसी बीच प्रेमी के परिजन लौटे, लेकिन युवती देख फिर भागने लगे। इस पर गांव वालों ने उन्हें पकड़ लिया और समझाया। काफी समझाने के बाद प्रेमी और उसके परिजन निकाह को राजी हो गई। रात में ही मौलवी को बुलाया गया और प्रेमी-प्रेमिका के साथ उसकी बड़ी बहन के गया। जहां दोनों का निकाह कराया गया। इसके बाद वह दुल्हन को विदा कराकर घर लौट आया। इस मामले की पूरे इलाके में चर्चा है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

महानवमी तक रातभर चलेगी मेट्रो, लोगों को राहत

एक नजर में महाषष्ठी को 288 सर्विसेज महाअष्टमी व महानवमी को 248 सर्विसेज दशमी को 132 सर्विसेज एकादशी से त्रयोदशी तक 234 सर्विसेज सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गापू​जा का उत्साह पूरे आगे पढ़ें »

सप्तमी पर महानगर में ट्रैफिक व्यवस्था हुई प्रभावित

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महासप्तमी के अवसर पर रविवार को महानगर की सड़कों पर लोगों की भारी भीड़ उमड़ी। पूजा पंडाल घूमने के लिए लोगों की आगे पढ़ें »

ऊपर