गाजियाबाद : 11 साल के बच्चे ने मांगी 10 करोड़ की फिरौती

गाजियाबाद : पांचवीं क्लास में पढ़ने वाले 11 साल के बच्चे से आप क्या-क्या करने की उम्मीद कर सकते हैं । उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के एक 11 वर्षीय बच्चे ने ऐसा अपराध किया, जिसे सुनकर हर कोई हैरान है। इस बच्चे ने यूट्यूब से हैकिंग सीखी और इसके बाद अपने ही पिता ईमेल भेजकर 10 करोड़ रुपए की मांग की। जब पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि जिस आईपी एड्रेस से ईमेल भेजा गया था, वह पीड़ित पिता के घर से ही था। आइए जानते हैं पूरा मामला…एक हफ्ते पहले गाजियाबाद के एक शख्स को धमकी भरा ईमेल आया। इसमें लिखा था कि अगर 10 करोड़ रुपए नहीं दिए तो तुम्हारी अश्लील तस्वीरें सार्वजनिक कर देंगे। तुम्हें मार देंगे और तुम्हारे परिवार को भी। ईमेल में दावा किया गया था कि ये ईमेल एक हैकर्स ग्रुप ने भेजा है। इसके बाद पीड़ित शख्स पुलिस के पास पहुंचा। शख्स ने कहा कि उसका ईमेल आईडी 1 जनवरी को हैक किया गया था। हैकर्स ने उसके ईमेल आईडी का पासवर्ड बदल दिया। साथ ही मोबाइल नंबर के साथ भी किसी तरह की छेड़छाड़ की। इसके बाद उसे 10 करोड़ रुपए देने के लिए धमकी भरा ईमेल भेजा गया। पुलिस को दी गई शिकायत में पीड़ित ने लिखा था कि हैकर्स उसकी दिन प्रति दिन की जिदंगी पर नजर रखे हुए हैं। लगातार मुझे और मेरे परिवार को परेशान कर रहे हैं। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज करके जांच शुरु की। जब पुलिस की साइबर सेल ने जांच शुरू की और ईमेल भेजने वाले का आईपी एड्रेस खोजा तो हैरान रह गई। धमकी वाला ईमेल पीड़ित शख्स के घर में मौजूद आईपी एड्रेस से भेजा गया था। जब पुलिस ने पीड़ित शख्स के 11 वर्षीय बेटे से पूछताछ की तो उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया। अब पुलिस इस बात की जांच में लगी है कि आखिरकार पांचवीं क्लास में पढ़ने वाला ये 11 वर्षीय लड़के ने ये अपराध क्यों किया। इस बच्चे को कुछ दिन पहले कंप्यूटर ऑनलाइन क्लास के दौरान साइबर क्राइम के बारे में पढ़ाया गया था। साथ ही ये भी बताया गया था कि साइबर क्राइम से कैसे बचा जाए। इसके बाद इस बच्चे ने यूट्यूब पर हैकिंग से संबंधित कई वीडियो देखे। कैसे ईमेल बनाएं, कैसे साइबर क्राइम करें सारी जानकारियां जमा करने के बाद बच्चे ने अपने पिता की ही ईमेल आईडी हैक कर ली।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल के आरोपों को चुनाव आयोग ने बताया निराधार

कहा - सभी चुनाव अधिकारी तत्परता व कर्मठता से कर रहे काम हमें अपने चुनाव अधिकारियों पर पूरा भरोसा सन्मार्ग संवाददाता नई दिल्ली/कोलकाताः मुख्य निर्वाचन आयोग ने तृणमूल आगे पढ़ें »

दूसरे चरण के लिए 30 सीटों पर नामांकन शुरू

बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव में चार जिलों की सीटें शामिल मतदान 1 अप्रैल को कोलकाताः चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण के आगे पढ़ें »

ऊपर