भगवान शिव की जटाओं से क्यों निकली थीं मां गंगा, जानें गंगा सप्तमी की तिथि और महत्व

कोलकाता : हिंदू धर्म में गंगा सप्तमी का विशेष महत्व बताया जाता है। वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि के दिन ही गंगा सप्तमी मनाई जाती है। जैसा की इसके नाम से ही समझ आ रहा होगा। गंगा सप्तमी का संबंध पवित्र मां गंगा से है। मां गंगा के धरती पर आने से पहले ब्रह्मा जी को ये चिंता थी, कि क्या धरती मां गंगा का भार और वेग सहन कर पाएगी। तब ब्रह्मा जी ने भागीरथ को भगवान शिव के पास जाने का सुझाव दिया। ब्रह्मा जी के सुझाव पर भगीरथ ने अपने कठोर तप से भगवान शिव को प्रसन्न किया। इसके बाद भोलेनाथ को इस बात के लिए मनाया कि मां गंगा स्वर्ग लोक से सीधा धरती पर अवतरित न होकर भोलेनाथ की जटाओं में से होती हुई निकलें। ताकि मां गंगा का वेग और भार कम हो सके। भोलेनाथ की जटाओं में जाने के दिन को गंगा सप्तमी के नाम से जानते हैं। आइए जानें इस दिन की तिथि, शुभ मुहूर्त और महत्व के बारे में…

गंगा सप्तमी 2022 तिथि-
पंचाग के अनुसार इस साल वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि 08 मई के दिन मनाई जाएगी। बता दें कि सप्तमी तिथि की शुरुआत 07 मई शनिवार दोपहर 02 बजकर 56 मिनट से होकर समापन 08 मई, रविवार शाम 05:00 बजे समाप्न होगा। ज्योतिषीयों के अनुसार उदयातिथि 8 मई के दिन पड़ रही है, इसलिए गंगा सप्तमी 08 मई के दिन मनाई जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

हावड़ा में लोहे के कारखाने में लगी भीषण आग

हावड़ा : हावड़ा के गोलाबाड़ी थानांतर्गत सलकिया स्कूल रोड में स्थित एक कारखाने में शनिवार की दोपहर अचानक आग लग गई। आग लगने के कारण आगे पढ़ें »

हुगली : डकैती के आरोप में दो गिरफ़्तार

शादीशुदा होकर अफेयर चलाना पड़ेगा भारी, यहां हो रही है सजा देने की तैयारी

अब ड्रोन भी बनाएगी अडाणी की कंपनी

मैंगलोर यूनिवर्सिटी में हिजाब पहनकर आईं स्टूडेंट्स, क्लास में एंट्री करने से रोका

रेपिस्ट के घरवालों से ही समझौता कर रहे थे मां-बाप, दुखी बेटी ने दूसरे कमरे में लगा ली फांसी

राजकोट में पीएम मोदी की रैली

संगमनगरी की गलियों में तपकर गीतांजलि श्री ने जीता साहित्य जगत का सोना

ग्वालियर: सास ने खाना बनाने को कहा, नाराज बहू ने खा ली चूहे मारने की दवा

बीरभूम में दिल दहलाने वाली घटनाः 7 महीने से पति ने नहीं भेजा पैसा, पत्नी ने 3 बच्चों के साथ…

ऊपर