बेहतर ऑर्गैज़्म पाने के लिए सेक्स करने का सही समय जान लें

कोलकाताः सेक्स के लिए कोई सही या ग़लत समय नहीं होता, पर ऐसा समय ज़रूर आता है, जब सेक्स करना और भी आनंददायक हो जाता है। हम चार ऐसे समय के बारे में बता रहे हैं, जो सेक्स के दौरान ऑर्गैज़्म तक पहुंच पाना तुलनात्मक रूप से आसान होता है। आप भी जान लें, ताकि सही फ़ायदा उठा पाएं।

पीरियड से ठीक पहले 
पीरियड्स के ठीक पहले बहुत सी महिलाएं कुछ ज़्यादा ही उत्तेजना महसूस करती हैं। अगर आप भी उन्हीं महिलाओं में से हैं तो आपको पता होना चाहिए कि यह सेक्स के लिए बिल्कुल सही समय होता है। कारण यह कि नैचुरली उत्तेजना महसूस करने पर इस बात की संभावना अधिक होती है कि आप जल्दी और बेहतर ऑर्गैज़्म का अनुभव कर पाएंगी। पीरियड से ठीक पहले आपके लेबियल और क्लिटोरल टिशू बहुत संवेदनशील हो जाते हैं। इससे आप कमाल का ऑर्गैज़्म पाती हैं।

जब आप दुखी और कन्फ़्यूज़ हों 
वैसे तो सेक्स का सबसे अच्छा समय वह माना जाता है, जब आप मानसिक रूप से ख़ुशहाल स्थिति में हों, पर कभी-कभी दुखी और कन्फ्यूज़ माइंड सेट के दौरान किया गया सेक्स लाजवाब होता है। इसका कारण यह बताया जाता है कि उस दौरान आप अपने दुख और डर की नकारात्मक ऊर्जा को पूरी तरह सेक्स में लगा देती हैं और नकारात्मक ऊर्जा सकारात्मक ऊर्जा में बदल जाती है। बेशक हम नहीं चाहते कि आप बेहतर सेक्स का अनुभव पाने के लिए कभी इस तरह के दुख या कन्फ़्यूज़न वाली स्थिति में रहें, पर अगर ग़लती से कभी इस स्थिति में पहुंचें तो सेक्स ट्राय करके देखें।

छुट्टियों और वीकएंड्स के दौरान 
सेक्स तब भी अच्छा अनुभव साबित होता है, जब आराम और इत्मीनान के साथ किया जाए। छुट्टियों और वीकएंड से बेहतर क्या हो सकता है, स्लो सेक्स के लिए? आपके पास अपने पार्टनर के साथ बिस्तर पर बिताने के लिए ढेर सारा टाइम होता है। इस दौरान आप दोनों एक्सपेरिमेंट कर सकते हैं, एक-दूसरे को ठीक से जान सकते हैं( बहुत संभव है कि इत्मीनान से किया गया सेक्स आपको यादगार ऑर्गैज़्म दे जाए।

लड़ाई के ठीक बाद
आपने एंग्री सेक्स के बारे में सुना है? कई कपल्स इस तरह के सेक्स को आज़माते हैं। अमूमन लड़ाई बाद पैचअप का अच्छा तरीक़ा माना जाने वाला एंग्री सेक्स आज़माने वाले ज़्यादातर जोड़े इस अनुभव को कमाल का बताते हैं। उस दौरान आपके पास कड़वाहट को भूलने और नई शुरुआत करने का मौक़ा मिलता है। एंग्री सेक्स में एनर्जी ज़्यादा होती है। दोनों पार्टनर एग्रेसिव होते हैं, यही कारण है कि उस दौरान चरम तक पहुंचना आसान हो जाता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

अवैध संबंध की दर्दनाक सजा, नाले में घुसकर हत्याकांड को अंजाम

नागपुर: इश्क और मुश्क छिपाए नहीं छिपती और इसका नतीजा भी घातक ही होता है। महाराष्ट्र के नागपुर से एक ऐसी खबर सामने आई जो आगे पढ़ें »

विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी की जब्त 9,371 करोड़ की संपत्ति बैंकों को किए गए ट्रांसफर

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 23 जून को कहा कि उसने भगोड़े अरबपतियों विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चौकसी से जुड़े मामलों में आगे पढ़ें »

ऊपर