होली के रंगों को छुड़ाने के लिए अपनाएं ये 5 हर्बल तरीके

कोलकाताः होली के रंग सबको अच्छे लगते हैं लेकिन जब अगले दिन ये रंग नहीं निकलता तो हम मुश्किल में पड़ जाते हैं। साबुन आदि से रंग हटाने से स्किन और रूखी हो जाती है। इसलिए हम आज आपको होली के जिद्दी रंगों को हटाने के लिए हर्बल तरीक बता रहे हैं। इनका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता, उलटे इनसे हमारी स्किन को फायदा होता है।

  • खीरा- आपको जानकर हैरानी होगी कि सलाद के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला खीरा रंगों को छुड़ाने के लिए भी इस्तेमाल होता है। रंग छुड़ाने के लिए खीरे के रस में थोड़ा सा गुलाब जल और एक चम्मच सिरका मिलाकर उसका पेस्ट तैयार कर लें। थोड़ी देर बाद चेहरे को ठंड़े पानी से धो लें। चेहरे का रंग भी छूट जाएंगे और त्वचा में निखार भी आ जाएगा।
  • नींबू- नींबू और बेसन का प्रयोग करके भी आप आसानी से शरीर पर लगे रंग को साफ कर सकते हैं। चेहरे से होली का रंग छुड़ाने के लिए बेसन में नींबू और दूध मिलाकर उसका पेस्ट चेहरे पर लगाएं। चेहरे पर 15-20 मिनट तक पेस्ट को लगा रहने दें। थोड़ी देर बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।
  • बादाम- जौ का आटा और बादाम का तेल लोग शरीर पर लगे जिद्दी रंग को छुड़ाने के लिए इस्तेमाल करते हैं। इस तेल को त्वचा पर लगाकर होली के रंग को साफ किया जा सकता है। इसके अलावा दूध में थोड़ा सा कच्चा पपीता, मुलतानी मिट्टी और थोड़ा सा बादाम तेल अच्छी तरह मिक्स कर लें। करीब 30 मिनट बाद चेहरा पानी से धो लें।
  • मूली- रंग छुड़ाने के मामले में मूली का कोई जवाब नहीं है। मूली का रस निकालकर उसमें दूध, बेसन और मैदा मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को चेहरे पर लगाने से चेहरा साफ हो जाता है। चेहरा ही नहीं शरीर के किसी भी अंग पर लगे रंग को छुड़ाना हो तो भी इस पेस्ट का उपयोग किया जा सकता है।
  • संतरे के छिलके- चेहरे पर दाने हैं और रंग भी जम गए हैं तो संतरे के छिलके के साथ मसूर की दाल और बादाम को दूध में पीसकर उसका पेस्ट बना लें। इस उबटन को त्वचा पर लगाने के बाद धो लें। आपकी त्वचा साफ हो जाएगी और उसमें निखार भी आएगा।
शेयर करें

मुख्य समाचार

सीएए लागू होने से कोई नहीं रोक सकता : शुभेंदु

कहा, साबित करें ​कि मैंने सीएम के पैर छूए सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा में सौजन्यता की राजनीति को भूलते हुए शनिवार को विपक्ष के नेता शुभेंदु आगे पढ़ें »

हाई कोर्ट ने खड़े किए हाथ, कहा : सुप्रीम कोर्ट जाएं

हीरा की रद्दगी और रेरा की बहाली से जुड़ा एक उलझा हुआ सवाल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल चार मई को पश्चिम बंगाल आगे पढ़ें »

ऊपर