आजाद भारत में पहली बार किसी महिला को होने जा रही है फांसी, तैयारी शुरू

मथुरा: आजाद भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा होने जा रहा है जब किसी महिला कैदी को फांसी पर लटकाया जाएगा।मथुरा स्थित उत्तर प्रदेश के इकलौते महिला फांसीघर में अमरोहा की रहने वाली शबनम को मौत की सजा दी जाएगी। इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है। निर्भया के आरोपियों को फांसी पर लटकाने वाले मेरठ के पवन जल्लाद भी दो बार फांसीघर का निरीक्षण कर चुके हैं। हालांकि फांसी की तारीख अभी तय नहीं है।

गौरतलब है कि अमरोहा की रहने वाली शबनम ने अप्रैल 2008 में प्रेमी के साथ मिलकर अपने सात परिजनों की कुल्हाड़ी से काटकर बेरहमी से हत्या कर दी थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने शबनम की फांसी की सजा बरकरार रखी थी। राष्ट्रपति ने भी उसकी दया याचिका खारिज कर दी है। लिहाजा आजादी के बाद शबनम पहली महिला कैदी होगी जिसे फांसी पर लटकाया जाएगा।
आज तक किसी महिला को नहीं हुई फांसी 
गौरतलब है कि मथुरा जेल में 150 साल पहले महिला फांसीघर बनाया गया था, लेकिन आजादी के बाद से अब तक किसी भी महिला को फांसी की सजा नहीं दी गई। वरिष्ठ जेल अधीक्षक शैलेंद्र कुमार मैत्रेय ने बताया कि अभी फांसी की तारीख तय नहीं है, लेकिन हमने तयारी शुरू कर दी है। डेथ वारंट जारी होते ही शबनम को फांसी दे दी जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

चोरी कर बदमाश ने छूए पैर, बोला- माफ कर देना, बहन की शादी करना है

ग्वाल‍ियर : टॉय गन की मदद से एक बदमाश ने होजरी व्यवसायी की पत्नी, नौकरानी को बंधक बनाकर लगभग 4 लाख का माल लूट ल‍िया। आगे पढ़ें »

शराब छुड़वाने के लिए जेल जाना चाहता है युवक

लखनऊ : शराब की लत लग जाने के बाद कई लोग इसे छुड़वाने के लिए काफी प्रयास करते हैं। कुछ को इसमें कामयाबी मिल जाती है आगे पढ़ें »

ऊपर