हवाईअड्डे पर पकड़ा गया फर्जी पायलट, इतनी बार कर चुका है यात्रा

piolet

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने इंदिरा गांधी अतंरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से एक फर्जी पायलट को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के पास से जाली आधार कार्ड भी बरामद किया है। हैैरानी की बात तो यह है कि शख्स ने नेम प्‍लेट भी लगा रखी थी। जानकारी के मुताबिक आरोपी हवाई अड्डे पर पायलटों को मिलने वाली सुविधाओं के लालच में उसने इस हरकत को अंजाम दिया। शख्स जर्मनी की लुफ्थांसा एयरलाइंस की वर्दी पहनकर एयर एशिया फ्लाइट से कोलकाता जाने की योजना में था तभी पुलिस ने उसे धर दबोचा। जांच में इस बात का खुलासा हुआ कि आरोपी कॉरपोरेट प्रशिक्षण देने का काम करता था जिसका कार्यलाय कोलकाता में स्थित है। एयरलाइंस के सुरक्षा अधिकारी के शिकायत के अनुसार शख्स हवाईअड्डे पर उनकी वर्दी पहनकर घुम रहा था।

सुविधाओं का उठाना चाहता था फायदा

सुुरक्षा अधिकारियों की जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी के नाम का कोई भी श्‍ख्स पायलट एयरलाइंस में नहीं था। नेम प्लेट पर राजन महबूबानी का नाम लिखा हुआ था लेकिन जांच प्रक्रिया के दौरान इस नाम का कोई शख्स नहीं था।आरोपी फर्जी पायलट उन सारी सुविधाओं का लाभ उठाने के फिराक में था जिसका फायदा अन्य पायलटों को दी जाती है। कड़ी पूछताछ के बाद आरोपी ने बताया कि उसने पायलट की ड्रेस पहनकर करीब 15 बार यात्रा की है और सभी फायदों का लाभ उठा चुका है।

टिकटॉक बनाने का शौक

पुलिस ने बताया कि शख्स ने फर्जी वर्दी कोलकाता से बनवाई थी और वह पंजाब विश्वविद्यालय से स्नातक है। आरोपी ने कई बार अपनी सीट अपग्रेड करवाई है। तत्काल सुविधा का लाभ उठाने और जल्दी-जल्दी जाने के लिए उसने पायलट की वर्दी बनवा रखी थी। आरोपी ने बताया कि उसे वर्दी पहनकर फोटो खिंचवाने और टिकटॉक बनाने का शौक है। पुलिस के हाथ एक फाेटो भी लगी है जिसमें वह कर्नल की पोशाक पहने हुए है। आगे की पूछताछ जारी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जम्मू-कश्मीर में अलग-अलग हादसों में दो जवानों समेत तीन की मौत

जम्मू: जम्मू-कश्मीर के उधमपुर और डोडा जिलों में अलग-अलग सड़क हादसों में सेना के दो जवानों और एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस आगे पढ़ें »

income tax

वित्त वर्ष 2018-19 के आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि बढ़ी

नयी दिल्ली: आयकर विभाग ने 2018-19 के आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख दो महीने बढ़ाकर बुधवार को 30 नवंबर कर दी है। केंद्रीय आगे पढ़ें »

ऊपर