पूजा में अवैध कनेक्शन से बिजली विभाग ने वसूला 1 करोड़ से अधिक का जुर्माना

सोनू ओझा

फायदा उठाकर ​लिये गये 6874 अवैध बिजली कनेक्शन
जुर्माना नहीं देने के लिए कुछ ने प्रतिवाद किया मगर ‘सरकारी अवदान’ के लिए हल्की करनी पड़ी जेब
पूजा के लिए मैनपावर था : 19618
समस्या दूर करने के लिए इस्तेमाल हुआ मोबाइल वैन : 3290
 
कोलकाता : दुर्गापूजा के दौरान पंडालों की रौनक देखते बनती है। लाइट की चकाचौंध लोगों का ध्यान स्वत: ही आक​र्षित करती है। इन सभी में बिजली विभाग का अहम योगदान होता है क्योंकि पूजा को देखते हुए राज्य बिजली विभाग की ओर से पूजा कमेटियों को अस्थाई बिजली कनेक्शन दिया जाता है। कहने को तो सब कुछ नियम कायदे से होता है लेकिन कुछ पूजा कमेटियां ऐसी भी हैं जिन्होंने नियमों को ताक पर रखकर अवैध तरीके से बिजली का कनेक्शन लिया। ​बिजली विभाग के अधिकारियों ने बताया कि दुर्गापूजा व कालीपूजा के दौरान डब्ल्यूबीएसईडीसीएल की तरफ से करीब 6874 ऐसे कनेक्शन पकड़े गये जिन्होंने हमारे द्वारा दिये गये नियमों की अवहेलना करते हुए बिजली का कनेक्शन ऑन रखा था हालांकि इनके खिलाफ विभाग की तरफ से एक्शन लिया गया था व जुर्माने की राशि वसूली गयी।
पिछले साल की तुलना में ​​कनेक्शन में हुआ इजाफा
2021 में दुर्गापूजा के दौरान कुल 40124 बिजली कनेक्शन का आवेदन आया था जिसकी क्षमता 645 मेगावॉट थी। इस साल कनेक्शन की संख्या में इजाफा हुआ तथा 44478 पूजा में कनेक्शन दिया गया जिसकी क्षमता 850 मेगावॉट थी। पूजा के लिए इस अस्थायी कनेक्शन के लिए बिजली के बिल में सरकार की तरफ से 60 फीसदी वेब किया गया था। यह कनेक्शन 5 से 10 दिनों तक के लिए दिया गया था।
दुर्गापूजा में कोलकाता में जली अवैध बिजली
बिजली विभाग के अधिकारी ने बताया कि दुर्गापूजा में कोलकाता जोन में सबसे अधिक अवैध बिजली का कनेक्शन पाया गया था। बंगाल के 5 जोन में कुल मिलाकर 3689 बिजली कनेक्शन ऐसे थे जिनमें नियम नहीं माने गये थे, किसी ने तय से अधिक लोड लिया था जबकि लोड के लिये 20 मेगावॉट तय किया गया था। वहीं कुछ ऐसे कनेक्शन भी थे जिन्होंने कुछ न कुछ नियम तोड़े थे। ऐसे कनेक्शन के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 63.5 लाख रुपये जुर्माने के तौर पर वसूल की गयी।
कालीपूजा में मिदनापुर में कनेक्शन के लिए टूटा नियम
कालीपूजा की बात की जाए तो इस साल कुल 20661 अस्थाई कनेक्शन बिजली विभाग की ओर से पूजा कमेटियों को दिया गया जिसकी क्षमता 165 मेगावॉट थी। अवैध कनेक्शन की बात करें तो मिदनापुर जोन में नियमों को तोड़ते हुए बिजली जलायी गयी। वहीं पूरे राज्य में कुल ऐसे कनेक्शनों की संख्या 3185 दर्ज की गयी जिन पर जुर्माना दर्ज किया गया। इस जुर्माने की कुल राशि 39 लाख रुपये वसूली गयी।
जुर्माने के लिए कई कमेटियों ने किया प्रतिवाद
जुर्माने की राशि जमा नहीं करने के लिए कई पूजा कमेटी की तरफ से प्रतिवाद भी किया गया मगर शर्त के हिसाब से जुर्माना नहीं देने वालों को सरकारी पोर्टल पर ब्लॉक कर ब्लैक लिस्ट कर दिया जाता जिसकी वजह से सरकार से मिलने वाला अवदान (प्रति क्लब 60 हजार रुपये) नहीं मिलता। अधिकारी ने बताया कि करीब 100 ऐसे कनेक्शन थे जो नियम ताक पर रख कर बिजली जलाने के बावजूद जुर्माना देने का प्रतिवाद कर रहे थे मगर इस अवदान के मोह में पूजा कमेटी की तरफ से जुर्माना भरा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

13.63 करोड़ की ठगी का आरोप, उद्योगपति गिरफ्तार  

- झारखंड के चास थाना की पुलिस ने अभियुक्त को बांकुड़ा से किया गिरफ्तार - पुरुलिया जिला में अभियुक्त का है इस्पात कारखाना - फोटो बांकुड़ा : झारखंड आगे पढ़ें »

बारानगर में नाले से व्यक्ति का शव बरामद

बारानगर : बारानगर थाना अंतर्गत लेबू बागान स्थित एक नाले से रविवार की सुबह व्यक्ति का शव बरामद किया गया। सुबह मॉर्निंग वॉक करने निकले आगे पढ़ें »

ऊपर