महाराष्ट्र और हरियाणा में थमा चुनाव प्रचार का शोर, 21 अक्टूबर को मतदान

vote

नई दिल्ली : महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव का प्रचार का शोर शनिवार शाम 5 बजे बंद हो गया। सोमवार 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र की 288 सींटों तथा हरियाणा की 90 सीटों के लिए यहां मतदान होना है। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा में 2 रैलीयों को संबोधित किया। वहीं गृहमंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र में रैली को संबोधित किया।

70 वर्ष तक समस्याओं में उलझाते रही कांग्रेस : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा के ऐलनाबाद में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस और उसके संस्कृति से जुड़े दलों ने हिंदुस्तानियों की आस्था, परंपरा और संस्कृति को कभी सम्‍मान नहीं दिया। कांग्रेस की जो पहुंच हमारे पवित्र स्थानों के साथ रही, वही पहुंच जम्मू-कश्मीर के साथ भी रही। 70 वर्ष तक समस्याओं में उलझाते रहे, समाधान के लिए ईमानदार कोशिश नहीं की।

हरियाणा 2014 में भाजपा को मिली 47 सीटें

मालूम हो कि हरियाणा में साल 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 47 सीटों पर जीत हासिल की थी। साथ ही इंडियन नेशनल लोकदल (आईएनएलडी) ने 19 एवं कांग्रेस ने 15 सीटें जीती थी। वहीं हरियाणा जनहित कांग्रेस (एचजेसी) ने 2 सीट, शिरोमणी अकाली दल (शिअद) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने 1-1 सीटें जीती थी। 5 निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी यहां चुनाव में जीत दर्ज की थी।

महाराष्ट्र 2014 के परिणाम

वहीं साल 2014 में महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव परिणाम को देखें तो भाजपा ने 123 सीटों पर कब्जा करते हुए सबसे बड़े दल का निर्माण किया था। ऐसा पहली बार हुआ था जब महाराष्ट्र में भाजपा को इतनी सीटें हासिल हुई थीं। जबकि 63 सीटों के साथ शिवसेना ने दूसरा स्‍थान पाया था। इतना ही नहीं कांग्रेस के खाते में 42 और राकांपा के खाते में 41 सीटें आई थी। जबकि 1 सीट अन्य के खाते में गई थी। ऐसे में अब देखना ‌है कि 21 अक्टूबर को होने वाले मतदान के बाद राज्य में किस पार्टी की तूती बजती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

गैलेक्सी ए51 का नया वेरिएंट भारत में हुआ लॉन्च, कीमत 27,999 रुपये

नई दिल्ली : सैमसंग ने इस साल की शुरुआत में लॉन्च हुए गैलेक्सी ए51 का नया वेरिएंट भारत में लॉन्च कर दिया है। नए वेरिएंट आगे पढ़ें »

कोरोना वायरस से सुरक्षा के ​लिए सीबीएसई की बड़ी घोषणा

नयी दिल्ली : पहले ही 10वीं 12वीं बोर्ड के छात्र को होम सेंटर (जिस स्कूल से पढ़ाई कर रहे हैं) पर परीक्षा देने की सहूलियत आगे पढ़ें »

ऊपर