भारत से‌ बिगड़े संबंध के चलते पाकिस्तान के व्यापार में भूचाल, यह उद्योग पड़ी ठप

pak

नई दिल्‍ली : जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से बौखलाए पाकिस्तान का भारत से सम्बंध अच्छे नहीं चल रहे। भारत से तल्‍ख रिश्ते बनाए हुए पाकिस्तान को व्यापारिक लिहाज से काफी नुकसान झेलना पड़ रहा। पाकिस्तान के उद्योगों के साथ-साथ वहां आम जनता भी इससे बेहद जूझ रही है। भारत से कारोबारी रिश्ते खत्म कर देने की वजह से पाक में कपास की भारी कमी हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तान में कपास उत्पादन में करीब 35 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। इस कारण वहां का कपड़ा उद्योग ठप पड़ गया है।

पाकिस्तान बड़ी मात्रा में भारत से कपास मंगाता था

पाकिस्तान में कपड़ा उद्योग के ठप होने की बड़ी वजह है भारत से व्यापार बंद होने के कारण पाकिस्‍तान के कपड़ा उद्योगों के पास कपास का न पहुंचना। पहले पाक बड़ी मात्रा में भारत से कपास मंगाता था। सीमावर्ती देश होने के कारण पाकिस्तान को भारत से कपास आयात करने में परिवहन की लागत भी बेहद कम आती थी। पाक अब कपास की कमी से निपटने के लिए दूसरे मुल्‍कों पर निर्भर हो चला है और उसने अमेरिका, स्पेन और ब्राज़ील से कपास का आयात शुरू कर दिया है। यह उसे भारत से कपास आयात करने की तुलना में बहुत महंगा पड़ रहा है।

पीसीजीए ने उत्पादन में इतनी फीसदी गिरावट की आशंका जताई

बता दें कि पाकिस्तान कॉटन जिनर्स एसोसिएशन (पीसीजीए) ने भी हाल ही में कपास के उत्पादन में 26.54 फीसदी की गिरावट की आशंका जताई थी। भारत पाकिस्तान के बीच तनाव के चलते कपास उद्योग को बड़ा झटका लगा है। इस समय भारतीय कपास का भाव करीब 69 सेंट प्रति पौंड है, जबकि अंतराष्ट्रीय बाजार में कपास का भाव 74 सेंट प्रति पौंड है। इस कारण पाकिस्तान को दूसरे देशों से कपास आयात करना काफी महंगा पड़ रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर