सेब का जूस पीयें, स्वस्थ रहें

यह कहावत बड़ी पुरानी है कि ‘एक सेब रोज खाओ, डाॅक्टर दूर भगाओ।’ ताजा सेब प्रात: काल खाली पेट खाने से शरीर को कई प्रकार के विटामिन मिलते हैं जो दिन भर शरीर को चुस्त रखते हैं। इसी प्रकार एक गिलास सेब का जूस पीने से शरीर को विटामिन ए और सी पर्याप्त मात्रा में मिल जाते हैं जो दिन भर के लिए पर्याप्त हैं। विटामिन के अलावा भी हमें सेब के जूस से बहुत कुछ मिलता है जैसे:- थकान होने पर एक गिलास ताजे सेब का रस आपको तुरंत एनर्जी प्रदान करता है क्योंकि सेब की शुगर आपको इंस्टेंट एनर्जी देती है।
– सेब में रेशा काफी होता है। कुछ तो जूस में घुल जाता है, कुछ फाइबर अघुलनशील होते हैं जो पेट को साफ करने में मदद करते हैं। सेब को शरीर का क्लींजर माना जाता है।
– सेब का जूस शरीर को न्यूट्रीशन तो देता है, साथ-साथ इम्यून सिस्टम भी स्ट्रांग बनाता है। आर्थराइटिस के रोगियों को सेब का जूस लाभ पहुंचाता है क्योंकि सेब के जूस में पोटाशियम की मात्रा अधिक होती है जो आर्थराइटिस में लाभप्रद है।
– किडनी और लिवर को भी साफ रखता है ताजे सेब का जूस। सेब में कैलोरी कम होने के कारण अधिक मोटापा भी नहीं लाता।
– बड़ी आयु के लोग भी सेब का जूस पी सकते हैं।
श्वांस नली संक्रमण में ऑक्सीजन लाभदायी
शहरी जनजीवन में ब्रोंकाइटिस अर्थात् श्वांस नली में संक्रमण एवं सूजन की स्थिति में पर्याप्त ऑक्सीजन का होना लाभदायी है। शहर में निवासरत 10% स्त्री-पुरुष ब्रोंकाइटिस पीड़ित हैं। लंबे समय तक प्रदूषित वातावरण में रहने के कारण यह स्थिति आती है। शहर में प्रदूषण के साथ-साथ यहां धूम्रपान सेवनकर्ता भी बहुत होते हैं। यह भी ब्रोंकाइटिस के लिये सहायक कारण बनता है। प्रदूषण एवं सिगरेट का धुआं मिलकर नाजुक सांस नली को आहत कर रहे हैं। इससे श्वांस नली में संक्रमण, सूजन एवं उसके सिकुड़ने जैसी स्थिति आती है। श्वसन व्यायाम के माध्यम से पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त कर इससे बचा जा सकता है। सांस अवरोध से मुक्ति मिलती है। संक्रमण व सूजन कम हो जाती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दूसरे चरण के लिए 30 सीटों पर नामांकन शुरू

बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव में चार जिलों की सीटें शामिल मतदान 1 अप्रैल को कोलकाताः चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण के आगे पढ़ें »

ईपीएल : लिपरपूल की एक और हार, एवर्टन और टोटैनहैम जीते

लंदन : लिवरपूल को अपने घरेलू मैदान एनफील्ड में लगातार पांचवीं हार का सामना करना पड़ा जबकि एवर्टन और टोटैनहैम इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) फुटबॉल आगे पढ़ें »

ऊपर