क्या आप भी एक ही मास्क दोबारा पहनते हैं? तो यह खबर है आपके लिये…

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का संक्रमण एक बार फिर पूरे देश सहित दुनिया के कई देशों में बढ़ा है। कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट के सब वेरिएंट की वजह से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है। ऐसे में मास्क पहनने को लेकर दोबारा से हिदायत दी जा रही है। कोरोना वायरस से बचने के लिए लोगों को सलाह दी जा रही है कि वह सार्वजनिक जगहों पर मास्क का प्रयोग करें। वहीं मास्क को लेकर एक नई स्टडी सामने आई है जिसमें यह कहा गया है कि एक ही फेस मास्क के दोबारा इस्तेमाल से बैक्टीरियल और फंगल इंफेक्शन का खतरा है।

लंबे समय तक मास्क लगाने के कारण चेहरे पर मुंहासे हो सकते हैं। हो सकता है कि आप मास्कने का शिकार हों। मास्क लगाने के कारण चेहरे पर पिंपल्स निकलने की परेशानी को मास्कने कहा जाता है। मास्कने – फेस मास्क पहनने से होने वाले मुंहासे से डरने की बात नहीं है। नए शोध से पता चलता है कि कोविड (SARS-CoV-2) वायरस के खिलाफ यह सर्वव्यापी सुरक्षा वास्तव में अपने आप में एक इंफेक्शन खतरा हो सकता है।
साइंटिफिक रिपोर्ट्स में प्रकाशित एक हालिया स्टडी में कहा गया है कि एक ही मास्क के दोबारा इस्तेमाल का खतरा अधिक है। जापान के किंडाई विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने फेस मास्क के दोनों तरफ बैक्टीरिया और फंगस पाया। रिसर्च टीम ने 109 मेडिकल छात्रों को उनकी मास्क वरीयताओं पर स्टडी किया और मास्क के दोनों किनारों पर फंगस और बैक्टीरिया का विश्लेषण किया। माइक्रोबियल कोलोनी काउंट की तुलना उन व्यक्तियों से की गई, जिन्होंने फेस मास्क ( पॉलीयुरेथेन, गैर-बुना) के प्रकार के आधार पर एक दिन (तीन से छह घंटे) और 2 दिन या उससे अधिक समय तक मास्क पहना था।उन्होंने पाया कि मास्क के अंदर बैक्टीरिया कोलोनी की संख्या अधिक थी। स्टडी में यह भी कहा गया है कि चेहरे की तरफ 99% और बाहरी तरफ 94% नमूनों में बैक्टीरिया पाए गए। दूसरी ओर फंगस बाहरी हिस्से (95%) की तुलना में चेहरे की तरफ (नमूनों का 79%) कम रहा। स्टडी में यह भी पाया गया 78% ने बिना सिलाई वाले फेस मास्क पहने और एक दिन के बाद डिस्पोज्ड कर दिया वहीं अन्य मास्क प्रकार के 58% उपयोग करने वालों ने दो दिनों या उससे अधिक समय तक एक ही मास्क पहना। देखने में आया कि लंबे समय तक मास्क के उपयोग से फंगस की संख्या में काफी वृद्धि हुई।
शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

फर्जी दस्तावेज पर अमरीका का स्टूडेंट विजा लेने की कोशिश, गिरफ्तार

यूएस कौंसुलेट के असिस्टेंट रिजनल सिक्यूरिटी ऑफिसर ने दर्ज करायी थी शिकायत सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : फर्जी एजुकेशल सर्टिफिकेट के आधार पर अमरीका का स्टूडेंट विजा लेने आगे पढ़ें »

ऊपर