क्या आप भी फोन या लैपटॉप में देखकर करते है एक्सरसाइज? ऐसा करने से होता है…

कोलकाताः कोरोना महामारी के चलते लगभग 2 साल से लोगों ने जिम जाना बंद कर दिया है। ऐसे में अपने आप को फिट रखने के लिए लोग घर पर ही ऑनलाइन क्लासेस लेकर अपने वजन को नियंत्रित रखते हैं। लेकिन इसे लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल होते है, कि क्या इस तरह से एक्सरसाइज करना सही है या क्या ये हमारे वजन को कम कर पाएगा? हालांकि, हाल ही में एक नए अध्ययन में पाया गया है कि ऑनलाइन शैक्षिक समर्थन के साथ वीडियो-आधारित क्लासेस और वजन घटाने के कार्यक्रमों ने लोगों की काफी मदद की है। इससे घुटने के पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस और अधिक वजन या मोटापे वाले लोगों में दर्द और कार्य में सुधार किया है।

कहां हुई रिसर्च
ये स्टडी हाल ही में अमेरिका में हुई है। इस रिसर्च के रिजल्ट ‘एनल्स ऑफ इंटरनल मेडिसिन’ पत्रिका में प्रकाशित किए गए हैं। ऑस्टियोआर्थराइटिस से अमेरिका में 32.5 मिलियन से अधिक वयस्क प्रभावित है। जिसे देखते हुए मेलबर्न विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने बेटर नी, बेटर मी ट्रायल में भाग लेने के लिए लगातार घुटने के दर्द से पीड़ित 416 लोगों को इस रिसर्च में शामिल किया। जिसमें लोगों को 6 महीने के लिए टेलीहेल्थ-वितरित कार्यक्रमों से एक्सरसाइज करने को कहा गया। ट्रायल के दौरान, प्रतिभागियों ने ज़ूम के माध्यम से फिजियोथेरेपिस्ट और डाइट एक्सपर्ट्स से ट्रेनिंग ली। इस दौरान कुछ लोगों ने सिर्फ एक्सरसाइज कार्यक्रम में भाग लिया और कुछ ने एक्सरसाइज प्लस डाइट चार्ट कार्यक्रम में हिस्सा लिया, ताकि वे केटोजेनिक, कम कैलोरी डाइट को बनाए रख सकें।

क्या कहती है रिसर्च
6 महीनों में, शोधकर्ताओं ने पाया कि इन कार्यक्रमों में भाग लेने वालों के घुटने के दर्द, शारीरिक कार्य और जीवन की गुणवत्ता में महत्वपूर्ण सुधार हुए हैं। केवल एक्सरसाइज कार्यक्रम की तुलना में, कंप्लीट एक्सरसाइज और डाइट प्लान से ज्यादा लाभ हुए, जिसमें दर्द में कमी, शारीरिक कार्य में अधिक सुधार, दर्द निवारक दवाओं का कम उपयोग और 6 महीने के कार्यक्रम में औसतन 22 पाउंड (9 किलो से ज्यादा) वजन कम होना शामिल है। शोधकर्ताओं के अनुसार, इन रिजल्ट से पता चलता है कि टेलीहेल्थ कार्यक्रम घुटने के पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस वाले लोगों के लिए फायदेमंद और एक सुलभ तरीका भी है।

ऑस्टियोआर्थराइटिस से परेशान है कई लोग
सिर्फ अमेरिका में ही 32.5 मिलियन लोग ऑस्टियोआर्थराइटिस से परेशान है। वहीं पूरी दुनिया भर में यह एक बहुत बड़ी समस्या है। घुटने के पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस आमतौर पर अधिक वजन और मोटापे से जुड़ा होता है, जो दर्द और विकलांगता को बढ़ाता है। इससे बचने के लिए लोगों को घुटने की महंगी सर्जरी भी करवानी पड़ सकती है। हालांकि, रेगुलर एक्सरसाइज, डाइट प्लान और वजन कंट्रोल करके स्केलेबल घुटने के पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस को कम किया जा सकता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

देगंगा में एक ही रात 5 घरों में चोरी से मचा हड़कंप

बारासात : बारासात अंचल के देगंगा थाना अंतर्गत पूर्व चांगदान इलाके में एक ही रात 5 घरों में चोरी होने से हड़कंप मच गया। मिली आगे पढ़ें »

ऊपर