गुरुवार को कीजिए ये उपाय, भगवान विष्णु के साथ देवी लक्ष्मी भी होंगी प्रसन्न

कोलकाता :  हिंदू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सप्ताह के सभी सातों दिन किसी ना किसी भगवान, देवी-देवता से संबंधित माने गए हैं। इसी कड़ी में गुरुवार या बृहस्पतिवार का दिन भगवान विष्णु से संबंधित माना जाता है।
गुरुवार व्रत  या गुरुवार पूजा  के दिन केले के पेड़ की पूजा का विधान बताया गया है। विवाह में बाधा आ रही हो तो गुरुवार के दिन केले के पेड़ में जल अर्पित करें। जिन जातकों की कुंडली में गुरु दोष मौजूद होता है वे इस दिन सूर्योदय से पहले उठकर स्नान करें और भगवान विष्णु की सच्चे मन से पूजा करें। साथ ही इस दिन विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ अवश्य करें।

आर्थिक संपन्नता के लिए उपाय
आर्थिक संपन्नता और धन योग प्रबल करने के लिए गुरुवार के दिन ना ही किसी से कर्जा उधार लें और ना ही किसी को उधार दें। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं और किसी को उधार देते हैं या किसी से उधार लेते हैं तो जीवन में आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है। गुरुवार के दिन व्रत करने वाले लोगों को सत्यनारायण की कथा सुनना बेहद फलदाई साबित हो सकता है।

बुजुर्गों की करें सेवा
गुरुवार की पूजा में पीले रंग का विशेष महत्व बताया गया है। ऐसे में अपने जीवन में सुख समृद्धि का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए इस दिन की पूजा में भगवान को पीले रंग के वस्त्र अर्पित करें और साथ ही भोग लगाने के लिए भी पीले रंग की मिठाई इस्तेमाल करें। साथ ही पूजा में पीला चंदन और पीला फूल भी अवश्य शामिल करें।  इसके अलावा गुरु ग्रह को मजबूत करने और बृहस्पति देव की प्रसन्नता हासिल करने के लिए गुरुवार के दिन किसी बुजुर्ग को अपने अनुसार भोजन अवश्य कराएं और किसी का भी अनादर करने से बचें।
केले का न करें सेवन
गुरुवार के दिन केले का सेवन ना करें क्योंकि इस दिन केले के पेड़ की पूजा की जाती है। ऐसे में केले का सेवन गुरुवार के दिन वर्जित माना गया है। जिन जातकों के विवाह में अड़चन आ रही हो या जीवन साथी ना मिल रहा हो उन्हें गुरुवार के दिन केले के पेड़ में जल अर्पित करते समय गुरु के 108 नामों का उच्चारण करने की सलाह दी जाती है। साथ ही इस दिन केले के पेड़ के समक्ष शुद्ध घी का दीपक भी अवश्य जलाएं

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पानीहाटी में तृणमूल कार्यालय पर बमबारी

पानीहाटी : खड़दह थाना अंतर्गत पानीहाटी के एंजेल नगर इलाके में कुछ समाज विरोधियों ने पहले बमबारी की। इसके बाद बीटी रोड मातारंगी भवन नामक आगे पढ़ें »

ऊपर