नवरात्रि में घर के मुख्‍य द्वार पर करें वास्‍तु के ये टोटके, लक्ष्‍मी खुद चलकर आएंगी आपके घर

कोलकाता : नवरात्र में मां दुर्गा की भक्ति के प्रभाव से चारों ओर बेहद सकारात्‍मक ऊर्जा रहती है, ऐसे में यदि आप मुख्‍य द्वार पर वास्‍तु के कुछ टोटके करें तो मां लक्ष्‍मी खुद आपके घर चलकर आएंगी। शास्‍त्रों में यह बताया गया है कि नवरात्र में वास्‍तु के कुछ उपाय बहुत ही शुभफलदायी माने जाते हैं। इनको करने से आपके घर में खुशहाली और समृद्धि बढ़ती है। परिवार के लोगों के बीच में प्‍यार बढ़ता है। कौन से हैं ये उपाय, आइए हम आपको बताते हैं।
नवरात्र के पहले दिन पूजा पाठ आरंभ करने से पहले घर के मुख्‍य द्वार पर आम के पत्‍तों का या फिर अशोक के पत्‍तों का बंदनवार जरूर लगाएं। ऐसा करने से मुख्‍य द्वार के आस-पास की सारी नेगेटिविटी दूर हो जाएगी।
नवरात्र में प्रतिपदा के दिन से आरंभ करके रोजाना मुख्‍य द्वार पर सिंदूर से दरवाजे के दोनों ओर स्‍वास्तिक बनाएं और हल्‍दी मिश्रित जल चढ़ाएं।
नवरात्र के पहले दिन मां दुर्गा के कदमों के निशान घर के अंदर आती हुई दिशा में बनाएं। इसको बनाने के लिए बेहतर होगा कि आप लाल रंग के पेंट का प्रयोग करें ताकि ये निशान ऐसे ही बने रहें।
आप काफी समय से पैसों की तंगी से परेशान हैं या फिर धन आपके पास रुकता नहीं है तो फिर नवरात्र में मां लक्ष्‍मी के किसी मंदिर में जाएं और वहां लाल रंग के कपड़े में बांधकर थोड़ी सी केसर और हल्‍दी लेकर व चावल चढ़ा दें। वहां से थोड़े से चावल लाकर अपने धन के स्‍थान पर छिड़क दें। ऐसा करने से आपके पास धन की बचत होने लगेगी।
नवरात्र के नौ दिन रोजाना पूजा करने के बाद तांबे के लोटे में जल भरकर मुख्‍य द्वार पर रखें और इसमें गुलाब की पत्तियां और थोड़ा सा इत्र डालें। ऐसा करने से आस-पास की सारी नेगेटिविटी दूर हो जाएगी और आपके घर में मां लक्ष्‍मी का प्रवेश होगा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राज्य में अब तक रेरा लागू नहीं होने के कारण खरीदारों की बढ़ी मुश्किलें

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पश्चिम बंगाल में अब तक रेरा एक्ट लागू नहीं किये जाने को लेकर घर खरीदारों की मुश्किलें बढ़ गयी हैं। इधर, घर आगे पढ़ें »

तृणमूल नेताओं ने विरोधी दल नेता पर साधा निशाना, कहा-सारे चोरों के नाम शुभेंदु को ही पता है

बैरकपुर में भाजपा के मिथ्या प्रचार के विरुद्ध तृणमूल ने की प्रतिवाद सभा पार्टी सुप्रिमा व सचिव तय करेंगे पंचायत चुनाव को लेकर गाइड लाइन बैरकपुर : आगे पढ़ें »

ऊपर