आज गुरुवार को करें ये 7 काम, आर्थिक संकट होगा दूर और श्रीहरि भी होंगे प्रसन्न

कोलकाता : आज गुरुवार के दिन भगवान विष्णु और देव गुरु बृहस्पति की पूजा की जाती है। भगवान विष्णु जगत के पालनहार हैं, उनकी मर्जी के बिना एक पत्ता भी नहीं हिलता है। उनकी पूजा करने से सारे कष्ट और पाप मिटते हैं, सुख, समृद्धि, धन, संपत्ति आदि में वृद्धि होती है। देव गुरु बृहस्पति मांगलिक कार्यों के लिए उत्तरदायी होते हैं, जिनकी कुंडली में गुरु ग्रह नीच का हो या गुरु दोष हो, तो उनके विवाह या अन्य मांगलिक कार्य में देरी होती है। ऐसे में गुरुवार का दिन गुरु ग्रह को मजबूत करने के लिए भी है।
गुरुवार के ज्योतिष उपाय
1. यदि आपके बिजनेस में तरक्की नहीं हो रही है, मुनाफा नहीं हो रहा है, जिसके कारण आर्थिक संकट की स्थिति बन गई है, तो इससे निपटने के लिए गुरुवार को गांठ वाली हल्दी की माला बना लें। उसे पूजा स्थान पर लगा दें। माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु को लड्डू का भोग लगाएं। गुरुवार के दिन कार्य स्थल पर पीले रंग की वस्तुओं का उपयोग करें।
2. यदि आपकी नौकरी या व्यवसाय में कोई समस्या आ रही है, जिससे आपकी आय भी प्रभावित हो रही है, तो गुरुवार के दिन किसी विष्णु मंदिर में जाकर प्रभु लक्ष्मी नारायण का दर्शन करें। उसके बाद केला, पीले वस्त्र, हल्दी, पीतल के बर्तन, चने की दाल, गुड़ आदि का दान करें। ऐसा करने से आर्थिक संकट दूर होगा और विवाह का भी योग बनेगा। गुरु ग्रह भी मजबूत होगा।
3. जब गुरु ग्रह कमजोर होता है, तो कार्य में सफलता नहीं मिलती है और न ही यश प्राप्त होता है। दुर्बल गुरु के कारण बिजनेस भी प्रभावित होता है, ऐसे में आपको गुरुवार के दिन ओम बृं बृहस्पतये नमः या गुरु के बीज मंत्र ओम ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरुवे नमः मंत्र का जाप करना चाहिए। बृहस्पति के मजबूत होते ही कार्य बनने लगेंगे।
4. यदि आप अपने लिए एक अच्छे लाइफ पार्टनर की तलाश कर रहे हैं, तो गुरुवार के दिन केले के पौधे की पूजा करें। उसे जल अर्पित करें और गाय के घी का एक दीपक जलाएं। फिर सच्चे मन से गुरु के 108 नामों का उच्चारण करें। आपकी मनोकामना पूरी होगी।
5. गुरुवार के दिन भगवान विष्णु के साथ माता लक्ष्मी की पूजा करें। उसके बाद हल्दी का टीका अपने मस्तक, कलाई और गले पर लगा लें। यह काम आप प्रत्येक दिन भी कर सकते हैं। इससे गुरु ग्रह मजबूत होगा।
6. बेहतर आर्थिक स्थिति के लिए गुरुवार के दिन तामसिक भोजन, मदिरा आदि से दूर रहें।बाल, दाढ़ी और नाखून न काटें। कपड़ा और बाल न धोएं।
7. गुरुवार का व्रत विधिपूर्वक रखने से सभी प्रकार के संकटों और दुखों का नाश होता है। कार्यों में सफलता मिलती है और मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बेलियाघाटा में बहनोई पर जानलेवा हमला, साला गिरफ्तार

कोलकाता : पारिवारिक अशांति को लेकर हुए विवाद के दौरान एक युवक ने अपने बहनोई पर जानलेवा हमला कर दिया। घटना बेलियाघाटा थानांतर्गत बेलियाघाटा मेन आगे पढ़ें »

ऊपर