सुबह उठते ही करें ये 4 छोटे से काम, बाल-स्किन सब चमकने लगेंगे

कोलकाता : सांसों की दुर्गन्ध आपके लाइफस्टाइल पर बुरा प्रभाव डालती है। इसके अनेक कारण हो सकते हैं। कई बार ऐसी स्थिति बन सकती है जहां आपको शर्मिंदा होना पड़ सकता है। इसलिए आपको खाने के साथ दिनचर्या में बदलाव करने की भी सलाह दी जाती है। इस सलाह को फॉलो करके मुंह की दुर्गन्ध को रोका जा सकता है। इन्हीं आदतों से आप अपने पाचन तंत्र, बाल और त्वचा को भी बेहतर बना सकते हैं। ऐसे में आइए जानते हैं कि हमें अपनी किन आदतों को फौरन बदलने की जरूरत है।
बांस ब्रश का इस्तेमाल
अगर आप अपनी सेहत को बेहतर बनाना चाहते हैं तो आपको बबूल या किसी अन्य गुणकारी पेड़ की लकड़ी से बने ब्रश का इस्तेमाल करना चाहिए। इसमें प्राकृतिक गुण होते हैं। जो बैक्टीरिया को जड़ से खत्म कर मसूड़ों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। ये पूरी तरह से बायो-डिग्रेडेबल हैं। जिससे पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचता है।
आयल पुलिंग
इस प्रक्रिया को आयुर्वेद में प्रसिद्ध तकनीक माना है। जो मुंह से बैक्टीरिया और कीटाणुओं को हटाने में मदद करती है। कई लोग नारियल तेल का इस्तेमाल करके आयल पुलिंग की प्रक्रिया को पूरा करते हैं। क्योंकि ये करना आसान है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और जीवाणुरोधी गुण होते हैं। जो दातों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं। नारियल तेल के अलावा आप जैतून के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
जीभ साफ करना
हमें दांत, जीभ और चेहरा सुबह उठने के साथ साफ करना चाहिए। खाने की चीजों के साथ जीभ की वजह से मुंह की बदबू आती है। क्योंकि दिनभर जो खाना खाते हैं। उसके अलग-अलग स्वाद से जीभ पर गंदगी, बैक्टीरिया और डेड सेल्स जमा हो जाती हैं। जो खराब सांस का कारण बनती हैं और आपके मौखिक स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती हैं। इसलिए जीभ को साफ करना, बैक्टीरिया और जमा डेड सेल्स को निकलने का सही तरीका है। जिससे मसूड़ों की बीमारियां खत्म की जा सकती हैं और पाचन में भी सुधार कर सकते हैं।
पानी पीना
पानी, बॉडी डिटॉक्स के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। पानी पीने से शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं। आप जो भी खाते हैं उनके पोषक तत्वों से मिलकर पानी शरीर में ग्लूकोज बनाने में मदद करता है। सुबह एक गिलास पानी पीने से शरीर में ताजगी का अहसास होता है और आप दिन भर एनर्जी के साथ काम कर पाते हैं। इसलिए आपको रोजाना 8-10 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए इससे मुंह की दुर्गंध नहीं आती है। क्योंकि पानी पीते रहने से बैक्टीरिया या डेड सेल्स जमा नहीं होते हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीएए लागू होने से कोई नहीं रोक सकता : शुभेंदु

कहा, साबित करें ​कि मैंने सीएम के पैर छूए सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा में सौजन्यता की राजनीति को भूलते हुए शनिवार को विपक्ष के नेता शुभेंदु आगे पढ़ें »

हाई कोर्ट ने खड़े किए हाथ, कहा : सुप्रीम कोर्ट जाएं

हीरा की रद्दगी और रेरा की बहाली से जुड़ा एक उलझा हुआ सवाल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल चार मई को पश्चिम बंगाल आगे पढ़ें »

ऊपर