घड़ी, कपड़े समेत दूसरों की पर्सनल चीजों का न करें इस्तेमाल, जानें वजह

कोलकाताः हम सभी को बचपन से ही सिखाया जाता है कि ‘शेयरिंग इज केयरिंग’ और हम यकीनन ऐसा करते भी हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि वास्तु शास्त्र के अनुसार सभी चीजें मांगकर इस्तेमाल करने के लिए नहीं होतीं। खासकर दूसरों की पर्सनल चीजें कभी नहीं मांगकर इस्तेमाल करनी चाहिए। लोग कपड़े, घड़ी और जूते-चप्पल जैसी चीजें दूसरों से मांग लेते हैं, लेकिन इसे वास्तु शास्त्र में गलत बताया गया है। इन चीजों के लेन-देन से बचना चाहिए। दूसरों की इन चीजों का इस्तेमाल करने से आप पर नकारात्मक ऊर्जा हावी हो सकती है और ये आदत आपको हानि भी पहुंचा सकती है।

कपड़े: दोस्तों के बीच अक्सर कपड़े एक्सचेंज किए जाते हैं, लेकिन ऐसा करने से बचना चाहिए. सिर्फ दोस्त ही नहीं बल्कि परिवार के लोगों या किसी रिश्तेदार के कपड़े भी ना पहनने की सलाह वास्तु शास्त्र में दी जाती है। इससे आपके शरीर की त्वचा पर संक्रमण का खतरा तो बढ़ता ही है और साथ ही यह दुर्भाग्य का कारण भी बन सकता है. इससे दूसरे की नकारात्मक ऊर्जा उन कपड़ोंं के जरिए आपके ऊपर आ सकती है.

अंगूठी: दूसरे की अंगूठी अपनी ऊंगली में न पहनें। फिर चाहे अंगूठी किसी धातु की हो या रत्न की। दरअसल रत्न और धातु किसी न किसी राशि व ग्रहों से संबंधित होते हैं, इसलिए दूसरे की अंगूठी पहनने से ग्रहों का विपरीत प्रभाव आपके जीवन पर पड़ सकता है।

जूते-चप्पल: कपड़ों की ही तरह कई लोग दूसरों के जूते-चप्पल भी मांगकर इस्तेमाल करते हैं। यह भी गलत तरीका है। बड़े-बुजुर्ग भी अक्सर दूसरों से जूते-चप्पल मांगकर पहनने को मना करते हैं. वास्तु के अनुसार इससे घर में दरिद्रता आती है. शास्त्रों में कहा गया है कि शनि का वास मनुष्य के पैरों में होता है. यदि आप किसी दूसरे के जूते-चप्पल पहनते हैं तो इससे शनि का प्रकोप आपके ऊपर पड़ सकता है.

कलम: कलम या पेंसिल भी जरूरत पड़ने पर हम किसी से भी मांग लेते हैं, लेकिन ऐसा करने से आपको आर्थिक क्षेत्र में हानि हो सकती है। अगर आप जरूरत पड़ने पर किसी से कलम मांग भी रहे हैं तो उसे अपने पास न रखें, बल्कि वापस लौटा दें।

घड़ी: घड़ी केवल समय नहीं बताती, बल्कि व्यक्ति के जीवन में आने वाले बुरा समय और अच्छा समय भी इससे जुड़ा होता है। दूसरे की घड़ी मांगकर पहनने से आपको नुकसान हो सकता है. यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति की घड़ी पहनते हैं, जिसका समय बुरा या मुश्किल भरा चल रहा है तो इसका प्रभाव आपके जीवन पर भी पड़ सकता है।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

विसर्जन के बाद नदी से अवशेष हटायेगा पोर्ट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मूर्तियाें के विसर्जन के बाद हुगली नदी में प्रदूषण फैलने से रोकने के लिए हर साल ही श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट आगे पढ़ें »

दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान बाढ़ में डूबने से 7 लोगों की मौत

मालबाजार: मालबाजार शहर से सटे माल नदी में अचानक बाढ़ आने से विसर्जन का कार्यक्रम को प्रशासन के तरफ़ से रोक दिया गया है । आगे पढ़ें »

ऊपर