हल्के में न लें ये लक्षण, भारत में तेजी से बढ़ रहे हैं ओमिक्रॉन के केस

कोलकाताः कोरोना के बढ़ते मामले सभी की चिंता की वजह बने हुए हैं। इस बीच नए स्ट्रेन ओमिक्रॉन को लेकर भी लोगों में डर है। ज्यादातर हेल्थ एक्सपर्ट्स इस वैरिएंट को कम खतरनाक बता रहे हैं। हालांकि इस बीच 1 मरीज की मौत की खबर भी आ चुकी है। अभी तक की रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत में 1700 से ज्यादा केसेज हैं जिनमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 510 केस रिपोर्ट किए गए हैं। ये खबरें सभी को डरा रही हैं ऐसे में सतर्कता और सावधानी रखना बेहद जरूरी है। एक्सपर्ट्स ने इसके कुछ लक्षण बताए हैं जिन्हें वॉर्निंग साइन के रूप में देखा जा रहा है।

  • ये लक्षण दिखते ही हों अलर्ट
ओमिक्रॉन के अब तक हल्के लक्षण ही रिपोर्ट हुए हैं। ये ज्यादातर जुकाम से मिलते हैं जैसे नाक बहना, गले में खराश, सिर दर्द, थकान, छींकना और हल्का बुखार।  जिसको भी जुकाम का लक्षण दिखे उन्हें तुरंत कोरोना टेस्ट करवा लेना चाहिए। क्योंकि सभी एक्सपर्ट्स का मानना है कि जितनी जल्दी इसका इलाज शुरू होगा, बीमारी को हराने में उतनी ही आसानी होगी।
  • पहले की तरह सूखी खांसी, तेज बुखार और स्मेल जाना ओमिक्रॉन के लक्षण के रूप में काफी कम सामने आया है। इसमें जुकाम जैसे ही हल्के-फुल्के लक्षण हैं।
  • सीडीसी ने कुछ और लक्षण बताए हैं जो ओमिक्रॉन के सिंपटम्स हो सकते हैं जैसे सांस लेने में दिक्कत, थकान, शरीर में दर्द, सिर दर्द, जी मिचलाना और उल्टी। वहीं अगर आपकी त्वचा, होठों या नाखूनों का रंग पीला, ग्रे या नीला दिखाई दे तो भी सचेत हो जाएं।
  • भले ही आपको पहले इन्फेक्शन हो चुका हो या वैक्सीन की सारी डोज लगी हों, लापरवाही न बरतें। मास्क और जरूरत हो तो फेसशील्ड लगाएं। सोशल डिस्टेंसिंग रखें साथ ही हाथ धोते और सैनिटाइज करते रहें। जरूरत हो तभी बाहर निकलें।
  • यह बिल्कुल जरूरी नहीं कि आप विदेश गए हों तभी ओमिक्रॉन का इन्फेक्शन होगा। वायरस काफी तेजी से फैल रहा है तो आपको जैसे ही जुकाम के लक्षण दिखें सबसे पहले खुद को आइसोलेट कर लें। आइसोलेशन का ये मतलब नहीं आपको कोरोना हुआ ही है लेकिन सावधानी आपके घर के कई सदस्यों को संक्रमण से बचा सकती है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

दक्षिण दमदम ने कायम की मिसाल, डबल डोज सर्टिफिकेट दिखाने पर संपत्ति कर में 25% की छूट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना से लड़ने के लिए सबसे जरूरी है वैक्सीनेशन। ऐसे में टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिए दक्षिण दमदम नगर पालिका के आगे पढ़ें »

ऊपर