सर्दी-खांसी और जुकाम को सामान्य समझ कर न करें नजरअंदाज, नहीं तो हो सकते है…

कोलकाता : सर्दियों के मौसम में अन्य संक्रमण के मुकाबले इंफ्लूएंजा का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। यह बीमारी इनफ्लुएंजा वायरस से होती है जो सर्दियों में अधिक सक्रिय रहता है। कोविड-19 के दौर में इस तरह की लापरवाही नुकसानदेह साबित हो सकती है। वायरस श्वसन तंत्र नाक, गला और फेफड़ों में संक्रमण फैलाता है। हालांकि यह भी एक सामान्य फ्लू ही है। इसके अधिकतर मामले एक से डेढ़ सप्ताह में अपने आप ही ठीक हो जाते हैं लेकिन कभी-कभी इसके कारण होने वाली जटिलताएं परेशानी का सबब बन जाती है। डॉक्टरों का कहना है कि संक्रमित व्यक्ति को आराम और संतुलित आहार लेना चाहिए। तरल पदार्थों का सेवन संक्रमण ठीक करने में बहुत मददगार होता है। संक्रमण से 65 वर्ष से अधिक उम्र वाले और कमजोर इम्यूनिटी वाले और गंभीर बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति को अधिक खतरा होता है। ऐसे में सर्दी, जुकाम व खांसी होने पर कदापि लापरवाही न बरतें।
ओमिक्रोन की चपेट में आ रहे मरीजों में अलग-अलग तरह के लक्षण दिखने को मिल रहे हैं। ऐसे में आपको किसी भी लक्षण को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। इसके अलावा बहुत से लोग सर्दी-खांसी को भी वायरल समझकर हल्के में ही लेते हैं जो कि आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में हम यहां ओमिक्रोन के लक्षणों के बारे में बताएंगे जिन्हें आपको भूलकर भी अनदेखा नहीं करना चाहिए। चलिए जानते हैं…
इन लक्षणों को ना करें नजरअंदाज
अगर आप सर्दी-जुकाम को हल्के में ले रहे हैं तो आपको बता दें कि ऐसा आप भूलकर भी ना करें। क्योंकि सर्दी, खांसी, गले में खराश, बुखार, सांस लेने में दिक्कत, हरारत, और सिर दर्द इसके मुख्य लक्षण है। ऐसे लक्षण दिखते ही आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए और अपना टेस्ट करना चाहिए।
ओमिक्रोन से संक्रमित होने पर कब्ज, सोते वक्त पसीना आना, आंखों में सूजन और स्वाद ना आना, और खुजली जैसी समस्या हो सकती है। इस तरह के लक्षण दिखने पर फौरन कोविड की जांच करवाएं।
वहीं अगर आपके शरीर के किसी भी हिस्से पर लाल चकत्ते दिखते हैं तो ये भी ओमिक्रोन से जुड़े हैं ऐसा दिखाई देने पर इसे नजरअंदाज बिलकुल भी ना करें। बल्कि तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और अपनी जांच करवाएं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

गुजरात में भूपेंद्र पटेल ही बनेंगे मुख्यमंत्री

गुजरात : गुजरात विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की प्रचंड जीत के बाद भूपेंद्र पटेल ही गुजरात के मुख्यमंत्री बनेंगे। गुजरात भाजपा अध्यक्ष CR आगे पढ़ें »

चिंगड़ीहाटा में बेपरवाह कार ने आठ लोगों को मारी टक्कर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधाननगर दक्षिण थानांतर्गत चिंगड़ीहाटा मोड़ पर एक बेपरवाह कार की टक्कर लगने से एक सिविक वॉलेंटियर सहित 8 लोग गंभीर रूप से आगे पढ़ें »

ऊपर