गुरुवार को करें इनमें से कोई 1 काम, खुलेंगे धन समृद्धि के मार्ग

कोलकाता : गुरुवार के दिन भगवान विष्णु और देवगुरु बृहस्पति की पूजा करना बहुत शुभ और लाभदायी माना गया है। ज्योतिषशास्त्र में बृहस्पति देव ज्ञान, भाग्य आदि का निर्धारण करने वाले माने गए हैं। शास्त्रों में बताया गया है कि गुरुवार के दिन कोई भी ज्योतिष उपाय करने से देवगुरु बृहस्पति जल्द हमारी समस्याओं का समाधान करते हैं। साथ ही इन उपायों से कुंडली में बृहस्पति मजबूत होता है, इससे इनका प्रभाव बढ़ता है और इंसान को कभी किसी चीज की कमी नहीं होती है। आइए जानते हैं भाग्योदय के लिए गुरुवार को कौन से उपाय करने चाहिए…
सुख-शांति का होता है वास
गुरुवार को केसर, पीला चंदन या फिर हल्दी का दान करना बहुत शुभ माना गया है। ऐसा करने से गुरु मजबूत होता है, जिससे आरोग्य और सुख की वृद्धि होती है। साथ ही घर में सुख-शांति का वास होता है। अगर आप इनका दान नहीं कर पाते हैं तो कोई बात नहीं इन्हें तिलक के रूप में लगाने से भी लाभ मिलता है। इससे गुरु का शुभ प्रभाव बढ़ता है जो सम्मान और धन वृद्धि कारक होता है।
गुरु देते हैं ज्ञान
गुरुवार को कॉपी-पुस्तक का दान बहुत उत्तम माना गया है। मान्यता है कि इनका दान करने से ज्ञान विद्या का विकास होता है और माता सरस्वती का आशीर्वाद भी मिलता है। लेकिन ध्यान रखें कि कॉपी-किताब फटी ना हो, इससे आपका ही नुकसान हो सकता है। गुरु ज्ञान और विद्या के कारक ग्रह माने गए हैं। पुस्तकों के दान से खास तौर पर धार्मिक पुस्तकों के दान से ज्ञान, विज्ञान और विद्या का विकास होता है।
इंसान का है सबसे बड़ा धन
दवाइयों का दान करना सर्वश्रेष्ठ माना गया है। बताया गया है कि गुरुवार के दिन दवाइयों को दान करने से हमेशा आपका स्वास्थ्य सही रहता है। शास्त्रों में बताया गया है कि अच्छा स्वास्थ्य ही इंसान का सबसे बड़ा धन है। दवाइयों के रूप में आप इंसान को सबसे बड़ा धन दे रहे हैं। बहुत से चिकित्सक गुरुवार को मुफ्त दवाई देते हैं। ऐसा विश्वास है कि इससे यश बढ़ता है। चिकित्सा विद्या भी सफल होती है।
खुलेंगे धन समृद्धि के मार्ग
गुरुवार को फलों का दान करना बहुत शुभ माना गया है। आप किसी जरूरतमंद या गरीब को पीले फलों का दान करें। ऐसा करने से आपके घर में धन समृद्धि के मार्ग खुलेंगे और रुके हुआ धन भी प्राप्त होंगे। फलों का दान मृत्यु के बाद स्वर्ग में भी स्थान दिलाने में सहायक माना गया है। यही वजह है कि लोग अपने जीवन काल में फलों के वृक्ष लगाते हैं, ऐसा विश्वास है कि जब तक वृक्ष से फल लोगों को मिलते रहते हैं वृक्ष लगाने वाले भी स्वर्ग में सुख से रहते हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

ढलाई वाली मशीन ले जा रही पिकअप वैन पलटी, 1 की मौत, 4 घायल

मिदनापुर : ढलाई करने में काम आने वाली मशीन को लाद कर ले जा रही एक पिकअप वैन के रास्ते के किनारे पलट जाने की आगे पढ़ें »

मोदी का एकमात्र विकल्प ममता : कुणाल

कोलकाता : गुजरात में भाजपा की जीत पर प्रतिक्रिया देते हुए तृणमूल के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा कि राष्ट्रीय राजनीति में मोदी का विकल्प आगे पढ़ें »

ऊपर