डायबिटीज के मरीज सुबह खाली पेट करें गुड़मार का सेवन, जल्द कंट्रोल होगा ब्लड शुगर

मुंबईः आजकल डायबिटीज मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है जिसकी मुख्य वजह गलत खानपान और खराब लाइफस्टाइल है। हालांकि और भी कई कारणों की वजह से लोग इसकी चपेट में आ जाते हैं। इस बीमारी से न सिर्फ बुजुर्ग बल्कि युवा भी इसकी गिरफ्त में आ रहे हैं। डॉक्टरों की मानें तो मधुमेह के मरीजों को अपने खानपान का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए वरना ये आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में आज हम आपको कुछ घरेलू नुस्खे के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका इस्तेमाल कर आप अपने शुगर को कंट्रोल कर सकते हैं। जी हां, ये नुस्खा है गुड़मार की पत्तियों का। आइए जानते हैं गुड़मार की पत्तियों किस तरह से शुगर मरीजों के लिए फायदेमंद है साथ ही जानिए इसके इस्तेमाल का सही तरीका।

डायबिटीज में कैसे काम करेगा गुड़मार?
गुड़मार में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, जोकि ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखने में मदद करते हैं। साथ ही यह तत्व अग्नाशय की कोशिकाओं को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से भी बचाता है। कई शोधों के अनुसार, डायबिटीज मरीजों के लिए गुड़मार एक असरदार उपाय है। वहीं इसके पत्तों में रेजिन, एल्ब्यूमिन, क्लोरोफिल, कार्बोहाइड्रेट, टार्टरिक एसिड, फॉर्मिक एसिड, ब्यूटिरिक एसिड और एन्थ्राक्विनोन डेरिवेटिव पाए जाते हैं। ऐसे में इसके पत्तों को चबाने से ब्लड शुगर लेवल नहीं बढ़ता है।
डायबिटीज के मरीज इस तरह करें गुड़मार का सेवन
डायबिटीज के मरीज नियमित रूप से खाली पेट गुरमार की कुछ पत्तियां चबाकर खा लें। इसके बाद एक गिलास पानी पी लें। ऐसा करने से न सिर्फ आपका ब्लड शुगर लेवल कम होगा बल्कि पूरे दिन ये आपके ब्लड शुगर को नॉर्मल रखेगा।आप चाहे तो एक गिलास पानी में आधा चम्मच गुड़मार का पाउडर मिलाकर भी पी सकते हैं। हालांकि इस बात का ध्यान रखें की आपको इसे लंच और डिनर के आधे घंटे पहले लेना है।
शेयर करें

मुख्य समाचार

एसएसकेएम कांड पर कार्रवाई का निर्देश

काेलकाता : एसएसकेएम कांड पर सीएम ममता बनर्जी ने कड़ी कार्रवाई की बात कही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने सुबह में ही इस मामले आगे पढ़ें »

कोलकाता : अस्पताल के शौचालय में फंदे से लटकता मिला मरीज का शव

कोलकाता : उत्तर कोलकाता के राजकीय आरजी कार मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के शौचालय में सोमवार सुबह 55 वर्षीय एक मरीज का शव लटका आगे पढ़ें »

ऊपर