मुंह में आ रहा ऐसा स्वाद तो हो जाएं अलर्ट

नई दिल्ली : पूरे विश्व में डायबिटीज एक बड़ी समस्या बन चुकी है। अब न सिर्फ बुजुर्ग बल्कि हर उम्र के लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं। आमतौर पर लंबे समय तक इसके सामान्य लक्षण दिखाई नहीं देते हैं, लेकिन मुंह में एक अजीब तरह का स्वाद विकसित होना भी डायबिटीज के प्रारंभिक लक्षणों में से एक हैं। 

डायबिटीज एक ऐसी स्थिति है जिसमें ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। इससे कई गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इनमें कई लोग ऐसे भी हैं जो इस बीमारी से अंजान होकर अपना जीवन जीते हैं। यदि आपको डायबिटीज के लक्षण महसूस होते हैं तो बिना देर किए आप डॉक्टर की सलाह लें। 

सभी डायग्नोज किए गए डायबिटीज के मामलों में से लगभग 90 प्रतिशत मामले टाइप 2 डायबिटीज के कारण होते है। टाइप 2 डायबिटीज में शरीर पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन नहीं कर पाता है या शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन पर प्रतिक्रिया नहीं कर पाती हैं। इंसुलिन ब्लड में शुगर के लेवल को नियंत्रण करके इसे ऊर्जा में बदलने का काम करती है। अक्सर लोग डायबिटीज के लक्षण को कम आंकने की गलती कर इन्हें अनदेखा कर देते हैं। पर एक शोध के अनुसार, मुंह में अजीब तरह का स्वाद विकसित होना भी डायबिटीज का गंभीर लक्षण हो सकता है। कुछ मरीजों को पहली बार पता चला है कि उनके मुंह में एक अजीब स्वाद विकसित होने पर ये किसी बीमारी का संकेत हो सकता है।

मेडिकल वेबसाइट हेल्थलाइन के अनुसार, स्वाद में गड़बड़ी अलग-अलग तरह की हो सकती है, लेकिन इसे अक्सर टेस्ट मेटालिक के रूप में जाना जाता है। टेस्ट मेटालिक एक टेस्ट डिसऑर्डर है जिसमें व्यक्ति के मुंह में कुछ ना होने पर भी धातु का स्वाद महसूस होता है। ब्लड में शुगर का लेवल हाई होने पर धीरे-धीरे सेंट्रल नर्वस सिस्टम खराब होने लगता है जो बाद में मुंह के स्वाद और गंध को प्रभावित करता है। 

एक्सपर्ट के अनुसार, पैरागेसिया एक टेस्ट डिसऑर्डर है। ये वो स्थिति है जब स्वाद को प्रभावित करने वाली नसें क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। इससे मुंह में एक धातु का स्वाद महसूस होने लगता है। हाई ब्लड शुगर या अनियंत्रित डायबिटीज से न केवल नर्वस सिस्टम को क्षति पहुंचती है बल्कि इससे किडनी को भी नुकसान पहुंचता है। इसके अलावा, डायबिटीज से पिड़ित लोगों को टेस्ट डिसऑर्डर यानी पैरागेसिया भी हो सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अब कोलकाता पुलिस के कर्मी कर सकेंगे स्वेच्छा से अंगदान

ऑर्गन डोनेशन के लिए भी भर सकते हैं फॉर्म सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अगर कोई अंगदान करना चाहता है और उसे नियम नहीं पता तो उसकी मुश्क‌िल आगे पढ़ें »

ऊपर