दिल्ली : घर में घुसकर की पिता की हत्या,पास में सोया था बेटा

Delhi murder

नयी दिल्ली : देश की राजधानी दिल्ली में अपराध थमने का नाम ही नहीं ले रही है। कभी बलात्कार तो कभी हत्या। दिल्‍ली के द्वारका सेक्टर-3 के निकट एक ऐसी घटना सामने आई है जिसने इलाके के लोगो में खौफ फैला दिया है। घर में घुसकर 37 वर्षीय ललित अग्रवाल ‌की बेरहमी से हत्या कर दी और बगल में सोए हुए उनके बेटे को भनक भी नहीं लगी। ललित के ऊपर तेज धार वाले चाकू से वार किया गया था। खबर मिलते ही पुलिस ने जांच शुरु कर दी है।

पिता को कांपते हुए देखा

हमले के दौरान जब ललित ने अपने 14 वर्षीय बेटे देवांश को हाथ मारकर उठाया तो देवांश ने अंधंरे में अपने पिता को कांपते हुए देखा। उसे अपने हाथ के पास कुछ गिला जैसा भी महसूस हुआ। ललित ने कुछ बाेलने की कोशिश भी की पर गला कटा होने के कारण उसके मुंह से आवाज नहीं निकल रही थी और वह अजीब तरह से कांप भी रहा था।

हत्यारे आखिर घुसे कैसे?

यह सब देखने के बाद देवांश ने अपनी मां को जगाया जो ललित के मुंह पर खुन देखकर घबरा गयी। उन्होंने देवांश को पड़ोसियों को बुलाने के लिए कहा और इसी बीच किसी ने पुलिस को इस खबर की सूचना दे दी। चौकाने वाली बात तो यह है कि देवांश ने दरवाजा खोलने के लिए घर का डबल लॉक खोला। तो अब सवाल यह उठता है कि आखिर हत्यारे घर में घुसे तो घुसे कैसे?

पुलिस ने शुरू की जांच

बता दें कि घटना के वक्त घर में बेटे और पत्नी के अलावा मृतक के सास और साली भी मौजूद थे। ऐसा बताया जा रहा है कि परिवार का एक प्रॉपर्टी पंजाब में हैं जिसका डील करने के लिए उन्हें सुबह ललित को अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ पंजाब रवाना होना था। पुलिस ने मृतक के बेटे देवांश के बयान के आधार पर जांच शुरु कर दी है और मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस के अनुसार परिजनों, दोस्तो और आस पास के लोगो से बात करके ही असली बात सामने आ पाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

करीमपुर उपचुनाव से होगा बंगाल विधानसभा के विजय का आगाज : विजयवर्गीय

नदियाः नदिया के करीमपुर विधानसभा उपचुनाव से बंगाल विधानसभा पर विजय का आगाज होगा, शनिवार शाम करीमपुर के महिषबथान में गांधी संकल्प यात्रा को केंद्र आगे पढ़ें »

बीजीबी की फायरिंग में बीएसएफ जवान की मौत की घटना दुर्भाग्यजनक : शुभेन्दु अधिकारी

मुर्शिदाबाद : मुर्शिदाबाद के जलंगी में बीजीबी की फायरिंग में बीएसएफ जवान की मौत की घटना दुर्भाग्यजनक। परिवहन मंत्री और तृणमूल के जिला पर्यवेक्षक शुभेन्दु आगे पढ़ें »

ऊपर