बिहार में बंद चीनी मिलों को पुनर्जीवित करने का निर्णय : श्याम रजक

पटना : बिहार सरकार ने मंगलवार को कहा कि राज्य चीनी निगम की बंद मिलों को निविदा प्रक्रिया के माध्यम से निजी-सार्वजनिक एवं सहकारिता क्षेत्र के निवेशकों को निर्धारित लंबी अवधि की लीज पर हस्तांतरित करते हुए गन्ना आधारित उद्योग या अन्य उद्योग के रूप में पुनर्जीवित करने का निर्णय लिया है।
विधान परिषद में उद्योग मंत्री श्याम रजक ने कांग्रेस के प्रेमचंद मिश्रा के ध्यानाकर्षण सूचना का जवाब देते हुए कहा कि पांच निविदा प्रक्रिया के बाद भी मधुबनी जिले में बंद पड़े लोहट चीनी मिल को पुनर्जीवित करने के लिए कोई भी सफल निवेशक उपलब्ध नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि सरकारी चीनी मिल को अन्य उद्योग की स्थापना के लिए मेसर्स श्री तिरहुत इंडस्ट्रीज लिमिटेड को लीज पर दिया गया था लेकिन निवेशक की ओर से समय पर निविदा की शर्तों के अनुसार शेष राशि जमा नहीं करने के कारण लीज को रद्द कर दिया गया है। रजक ने कहा कि वर्तमान में प्राथमिकता क्षेत्र वाले उद्योगों की स्थापना के लिए बिहार राज्य चीनी निगम की बंद पड़ी लोहट मिल की भूमि एवं फार्म लैंड तथा सकरी के फार्म लैंड को बिहार औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार (बियाडा) को इस वर्ष के 11 फरवरी को हस्तांतरित कर दिया गया है। मेसर्स रीगा शुगर कंपनी लिमिटेड रीगा, सीतामढ़ी द्वारा पेराई सत्र 2018-19 में इस वर्ष के 15 फरवरी तक गन्ना किसानों का 43.62 प्रतिशत ईंख मूल्य का भुगतान कर दिया गया है। मंत्री ने कहा कि बकाए के भुगतान के लिए विभाग ने पेराई सत्र 2018-19 के लिए चीनी मिल में कुल उत्पादित चीनी को जब्त करते हुए इसकी बिक्री से प्राप्त होने वाली राशि का 85 प्रतिशत ईंख मूल्य भुगतान मद से व्यय करने की व्यवस्था की गई है। साथ ही चीनी मिलों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए सरकार द्वारा सभी मिलों को पेराई सत्र 2018-19 में कुल क्रय किए गए गन्ना पर 12.50 रुपए कि्वंटल की दर से ईंख मूल्य अनुदान भुगतान का निर्णय लिया गया, जिसके तहत रीगा चीनी मिल को 5.66 करोड़ रुपए मुहैया कराया गया और इसका उपयोग ईंख मूल्य भुगतान में किया गया है। मंत्री ने कहा कि बिहार राज्य चीनी निगम की रैयाम इकाई के द्वितीय निविदा में सफल होने के बाद एज इज वेयर इज के आधार पर मेसर्स श्री तिरहुत इंडस्ट्रीज लिमिटेड को 04 अक्टूबर 2012 को हस्तांतरित किया गया है। रजक ने कहा कि निविदा की शर्तों के अनुरूप श्री तिरहुत इंडस्ट्रीज लिमिटेड को रैयाम में चीनी मिल स्थापित कर परिचालित करने के लिए विभाग की ओर से कई पत्र लिखे गए लेकिन मेसर्स श्री तिरुपति इंडस्ट्रीज लिमिटेड द्वारा चीनी मिल स्थापित करने से संबंधित सूचना नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि इसके बाद विभाग ने श्री तिरहुत इंडस्ट्रीज लिमिटेड को चीनी मिल स्थापित करने के लिए कानूनी नोटिस जारी किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

ट्रेडिंग के आखिरी के घंटों में गंवाया लाभ, निफ्टी 0.32% और सेंसेक्स 128.84 अंक नीचे हुआ बंद

नई दिल्ली : भारतीय शेयर बाजारों में लगातार 6वें दिन से आगे बढ़ने का सिलसिला आज टूट गया और निफ्टी व सेंसेक्स दोनों अस्थिर कारोबारी आगे पढ़ें »

आईडब्ल्यूएफ से मुआवजे की मांग करेंगी भारोत्तोलक संजीता चानू

दर्शकों के बिना कैसे होगा विश्व कप, उचित समय का इंतजार करे आईसीसी : अकरम

बंगाल में तूफान से भी तेज हुई कोरोना मामलों की गति, अब तक के सबसे अधिक आए मामले

पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम: सीएमआईई आंकड़े

एसबीआई ने 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया

कोरोना ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को ​लिया अपने शिकंजे में, हुआ संक्रमित

भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध : चीन

फायदेमंद है संतुलित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन, अत्यधिक मात्रा पहुंचा सकता है नुकसान

भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट ने मार्केट कमेटी के कर्मचारी को चप्पलों से पीटा

ऊपर