हथेली में दिखे ये बदलाव तो समझिए करीब है मृत्‍यु

नई दिल्ली : जिस तरह जन्‍म से पहले व्‍यक्ति 9 महीने तक गर्भ में रहता है और धीरे-धीरे बढ़ता है, वैसे ही मौत से पहले के 9 महीने की अवधि में भी व्‍यक्ति के शरीर में कई अहम बदलाव आते हैं। ये मौत आने के संकेत होते हैं। समय के साथ मौत के नजदीक आने पर कई ऐसी चीजें होती हैं, जो व्‍यक्ति को एकदम अलग अनुभव देती हैं। पुराणों में इस बारे में बहुत विस्‍तार से बताया गया है। यदि व्‍यक्ति इन संकेतों पर ध्‍यान दे तो वह शांत और आसान मृत्‍यु को पा सकता है।

टूटने लगते हैं चक्र 

योग विज्ञान के अनुसार व्‍यक्ति के शरीर में 7 चक्र होते हैं। जब मौत का समय नजदीक आता है तो नाभि चक्र टूटने लगता है। जन्‍म के समय व्‍यक्ति का शरीर भी इसी चक्र से बनना शुरू होता है और उसके प्राण भी यहीं से निकलते हैं। चक्र टूटने के दौरान शरीर में कई बदलाव आते हैं, यदि उन्‍हें महसूस कर लिया जाए तो पता लग जाता है कि मौत का समय करीब है। गरुड़ पुराण समेत कई शास्‍त्रों में मौत आने से पहले के कुछ अहम संकेत बताए गए हैं।

– मौत से पहले व्‍यक्ति को अपनी नाक दिखाई देना बंद हो जाती है।

– उसे तेल या पानी में अपनी परछाई नहीं दिखाई देती है इसलिए कहा जाता है कि मौत के समय व्‍यक्ति की परछाई भी उसका साथ छोड़ देती है।

– मौत से पहले व्‍यक्ति के हाथ की रेखाएं एकदम हल्‍की पड़ जाती हैं। यहां कि वे मुश्किल ही दिखाई देती हैं।  

– सपने में भी कुछ अजीब चीजें दिखाई देने लगती हैं, जैसे बुझा हुआ दीपक दिखाई देना।

– मरने से पहले व्‍यक्ति को अपने आसपास आत्‍माएं महसूस होने लगती हैं। ये उसके पूर्वजों की आत्‍माएं होती हैं जो उसके परलोक में आने का जश्‍न मनाने लगती हैं क्‍योंकि मरने वाला उनका परिजन अब उनके पास आने वाला होता है।

– मरने से पहले व्‍यक्ति की सांसे उल्‍टी चलने लगती हैं। कई बार उसे यमदूत इस तरह करीब नजर आने लगते हैं कि उसे अपने आसपास मौजूद लोग नहीं दिखते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ी खबरः फिर उबला भाटपाड़ा, समाज विरोधियाें ने लहराये हथियार, घायल किये लोगों को

भाटपाड़ा : भाटपाड़ा एक बार फिर उबला। यहां समाजविरोधियों ने हथियार लहराते हुए लोगों को घायल कर दिया। भाटपाड़ा थाना अंतर्गत मद्राल नेताजी मोड़ इलाके आगे पढ़ें »

ऊपर