झारखंड के साइबर ठग कई राज्य के लोगों को बना रहे शिकार

रांची : जामताड़ा के साइबर अपराधियों के कारण झारखंड पहले ही बदनाम था और अब देवघर में भी इस अपराध के नये गढ़ सामने आया है। जामताड़ा से अधिक देवघर जिले से राज्य के बाहर के लोगों से साइबर ठगी को अंजाम दिया जा रहा है। राज्य पुलिस मुख्यालय के आंकड़ों के अनुसार, 28 दिसंबर 2020 तक अलग-अलग राज्यों की पुलिस ने झारखंड से साइबर अपराध के 1242 मामलों की जांच में मदद मांगी, जिनमें से झारखंड पुलिस ने 886 मामलों की जांच पूरी कर बाहरी राज्यों को पुलिस को भेज दी। वहीं 305 मामलों में जांच जारी है। देवघर जिले से सर्वाधिक ठगी के 333, जामताड़ा जिले से 218, गिरिडीह से 156, धनबाद से 121 मामले सामने आए। वहीं रांची में साइबर अपराध के सर्वाधिक 290 मामले जबकि राज्य में साइबर अपराध के कुल 1240 मामले इस साल पुलिस ने दर्ज किए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सिडनी में स्टार स्पिनर अश्विन के साथ हुआ था बुरा बर्ताव

नयी दिल्ली : अनुभवी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने खुलासा किया कि सिडनी टेस्ट के दौरान भारतीय खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के साथ लिफ्ट साझा आगे पढ़ें »

चुनाव में अधिक अधिकारियों व कर्मियों की होगी तैनाती : गृह सचिव

राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर नए मतदाताओं को दिए गए वोटर कार्ड कोलकाताः राज्य के गृह सचिव एच.के. द्विवेदी ने सोमवार को कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव आगे पढ़ें »

ऊपर