लॉकडाउन नहीं मान रहे थे लोग, तीन राज्यों में लगा कर्फ्यू

नयी दिल्ली : देश में ‘कोविड-19’ संक्रमण के मामले बढ़कर 415 हो गए हैं। रविवार रात तक संक्रमित लोगों की संख्या 360 थी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी। इन आंकड़ों में 41 विदेशी नागरिक और अब तक हुई सात मौत शामिल है। इसके बावजूद जब लोग लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे तो सरकारों को कर्फ्यू लगाने पर मजबूर होना पड़ रहा है। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने इसकी शुरुआत की। उन्होंने कहा कि लोग और अधिकारी लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे इसलिए पूरे राज्य में कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसके बाद कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी पूरे प्रदेश में कर्फ्यू लगा दिया। इसके बाद केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ में भी कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी गई।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि गुजरात, बिहार और महाराष्ट्र में रविवार को एक-एक मौत हुई, जबकि पहले चार अन्य मौत कर्नाटक, दिल्ली, महाराष्ट्र और पंजाब में हुई थीं। इन 415 संक्रमित लोगों में वे 24 लोग भी शामिल हैं, जिनका इलाज किया जा चुका है या ठीक होने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है या वे यहां से चले गए हैं।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा कि सोमवार सुबह 10 बजे तक 18,383 नमूनों की जांच की जा चुकी है। यह तत्काल नहीं साफ हो सका है कि नये मामले कहां से आए हैं। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 67 मामले हैं जिनमें तीन विदेशी नागरिक शामिल हैं। केरल से भी 67 मामले सामने आए हैं, जिनमें सात विदेशी शामिल हैं। दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या एक विदेशी समेत 29 है, जबकि उत्तर प्रदेश में एक विदेशी समेत 28 लोग संक्रमित हैं। राजस्थान में दो विदेशी नागरिकों समेत 27 मामले हैं। तेलंगाना में 11 विदेशी समेत 26 मामले हैं। कर्नाटक में कोरोना वायरस के 26 मरीज हैं। हिमाचल में भी दो मामले पॉजिटिव आए हैं। हरियाणा, पंजाब, गुजरात, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और उत्तराखंड सहित देश भर से मामले सामने आए हैं। कोरोना महामारी से महाराष्ट्र में दो, दिल्ली, कर्नाटक, बिहार, गुजरात और पंजाब में एक-एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। इस महामारी के गंभीर संकट से बचने के लिए देश में अभूतपूर्व आपातकालीन कदम के तौर पर विभिन्न राज्यों के 80 जिलों और शहरों में लॉकडाउन घोषित किया गया है। कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रकोप को रोकने के लिए देश के विभिन्न राज्यों में सोमवार से 31 मार्च तक लॉकडाउन रहेगा। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य गतिविधियां पूरी तरह से बंद रहेंगी। पंजाब सरकार तथा महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सोमवार को कर्फ्यू लागू कर दिया। ऐसा बड़ा कदम उठाने वाला देश के यह दो राज्य हैं। हरियाणा के सात जिलों के साथ-साथ राजधानी भोपाल सहित मध्यप्रदेश के अधिकतर शहरों को लॉकडाउन किया गया है। हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है, जो अगले आदेश तक जारी रहेगा। कश्मीर में प्राधिकारियों ने लॉकडाउन लागू करना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही देशभर में सार्वजनिक यातायात के साधनों पर भी सोमवार से पूरी तरह रोक लगा दी गयी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

2022 में होगा विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप

पेरिस : टोक्यो ओलंपिक के एक साल तक टलने से 2021 में प्रस्तावित ओरेगन विश्व चैंपियनशिप का आयोजन अब 2022 में 15 से 24 जुलाई आगे पढ़ें »

इटली के ओलंपिक फाइनलिस्ट दोनातो की कोरोना से मौत

नई दिल्ली : दुनियाभर को अपनी चपेट में ले चुके कोरोना (कोविड-19) के कारण दो हफ्ते में खेल जगत के 6 बड़े खिलाड़ी अपनी जान आगे पढ़ें »

दुबई में विश्व की पहली ‘होम मैराथन’, भाग लेंगे 62 देशों के 749 धावक

सेंसेक्स 31,159 की बढ़त के साथ और निफ्टी 363 अंकों की बढ़त के साथ 9,111 पर बंद हुआ

कोरोना की रोकथाम के लिए सरकार ने 15000 करोड़ रुपये के इमरजेंसी पैकेज का ऐलान किया

आईपीएल के लिये किसी आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने कोहली से नरमी नहीं बरती : टिम पेन

कर्फ्य के दौरान कार से निकलने पर क्रिकेटर ऋषि धवन का चालान काटा

विश्व कप विजेता हाकी खिलाड़ी अशोक दीवान अमेरिका में फंसे, सरकार से लगायी गुहार

शोएब को कपिल ने सिखायी इंसानियत कहा-भारत को धन की नहीं जरूरत, जोखिम में नहीं डालेंगे खिलाड़ियों को

rbi

मौजूदा वित्त वर्ष के शुरूआती 9 महीनों में ही 50 फीसद कर्ज ले सकेंगे राज्य : आरबीआई

ऊपर