गिरिडीह में कोरोना का संदिग्ध रिम्स में भर्ती

झारखंड में कोरोना के 17 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट निगेटिव

गिरिडीह : झारखंड के गिरिडीह जिले में कोरोना विषाणु से संक्रमित होने की आशंका में शुक्रवार को एक संदिग्ध को राजधानी रांची के राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया।
सिविल सर्जन डॉ. अवधेश सिन्हा ने यहां बताया कि संदिग्ध मरीज का इलाज सदर अस्पताल में किया जा रहा था लेकिन उसने बार-बार रांची रेफर करने का आग्रह किया। उन्होंने बताया कि कारोना विषाणु से संक्रमित होने की आशंका वाले मरीजों के इलाज के लिए सदर अस्पताल में एक आइसोलेशन वार्ड की व्यवस्था की गयी है। संदिग्ध की पहचान देवरी प्रखंड के चतरो के बलिहारी गांव निवासी राजू दास के रूप में की गयी है। सूत्रों ने बताया कि राजू दास गुरुवार की रात ही दिल्ली से गांव लौटा था। वह शुक्रवार को इलाज कराने जब अस्पताल पहुंचा तो सिविल सर्जन और नोडल पदाधिकारी के पूछने पर संदिग्ध राजू दास ने बताया कि उसे करीब दस दिनों से खांसी है। दिल्ली में रहते हुए ही उसे खांसी हुई। उसने यह भी बताया है कि दिल्ली मे जहां वह काम करता है वहां कुछ लोग को खांसी के अलावा परेशानी थी।

17 की जांच रिपोर्ट निगेटिव
झारखंड में कोरोना विषाणु से संक्रमित होने की आशंका में उन्नीस संदिग्धों के रक्त के नमूने की जांच कराई गयी, जिनमें से 17 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव रही है वहीं दो की रिपोर्ट आनी बाकी है।
मुख्य सचिव डॉ. डी.के. तिवारी ने शुक्रवार को यहां बताया कि आशंका के आधार पर झारखंड के 19 लोगों के रक्त का नमूना लिया गया है। उनमें से 17 की जांच रिपोर्ट निगेटिव निकली है। दो सैंपल की जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। उन्होंने कहा कि पहले सैंपल की जांच राज्य के बाहर हो रही थी, लेकिन अब जमशेदपुर के महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) अस्पताल में भी जांच की व्यवस्था करा दी गयी है। डॉ. तिवारी ने कोरोना वायरस को लेकर वीडियो कॉंफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी उपायुक्तों को निर्देश दिया है कि वे इसे हौवा न बनने दें। आम जनता तक सही सूचना पहुंचे, इसे सुनिश्चित करें। साथ ही अफवाहों पर नजर रखें और इस रोग से बचाव और एहतियात को लेकर आमजनों को लगातार जागरूक करें। मुख्य सचिव ने कहा कि जब तक यह स्पष्ट न हो जाए कि कोई व्यक्ति कोरोना से प्रभावित है, तब तक उसकी सूचना प्रसारित नहीं होनी चाहिए। वहीं, किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए अपनी पूरी तैयारी रखने का निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि सभी भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर कोरोना से बचाव से जुड़ी सूचनाएं बैनर, पोस्टर और होर्डिंग के माध्यम से दें।
डॉ. तिवारी ने कहा कि पूरे विश्व में कोरोना वायरस का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है। अभी तक 117 देश इसकी चपेट में आ चुके हैं। भारत के भी कुछ हिस्सों में इससे प्रभावित लोग मिले हैं लेकिन पूर्वी भारत इससे अभी लगभग अछूता है। इस स्थिति में सतर्कता आवश्यक है। मुख्य सचिव ने एहतियात के लिए 15 अप्रैल तक सरकार आपके द्वार कार्यक्रम स्थगित रखने का निर्देश दिया। वहीं, वैसे जलसे को प्रतिबंधित करने को कहा जिसमें बाहर के लोग शिरकत कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जिन कार्यक्रमों में सिर्फ स्थानीय लोगों की सहभागिता होगी, वैसे आयोजनों को अनुमति दी जा सकती है। डॉ. तिवारी ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के उपायों को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने का निर्देश देते हुए इस रोग से बचाव में साफ-सफाई को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने सभी उपायुक्तों को विशेषकर नगरपालिका क्षेत्रों में साफ-सफाई पर फोकस करने और जागरूकता के लिए सामाजिक संगठनों के साथ बैठकें करने और पंचायत स्तर पर ग्राम सभा करने का निर्देश दिया। साथ ही तैयारी के तहत हर जिला अस्पताल में 5 बेड का और मेडिकल कॉलेजों में 8-10 बेड का आइसोलेशन वार्ड यथाशीघ्र बना लेने का निर्देश दिया। वहीं कोरोना वायरस से संक्रमण के संभावितों की देख-रेख के लिए 20 मार्च को जिले में होने वाले प्रशिक्षण को लेकर भी निर्देश देते हुए कहा कि तैयारी के तहत मॉक ड्रिल भी करें। किसी भी स्थिति में किसी संक्रमित व्यक्ति को लेकर हौवा नहीं बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि मास्क लगाने की जरूरत सभी को नहीं बल्कि सिर्फ संक्रमित व्यक्ति और उनके इलाज में जुटे मेडिकल कर्मचारियों को है।
मुख्य सचिव डॉ. तिवारी की अध्यक्षता में संपन्न बैठक में अपर मुख्य सचिव इंदु शेखर चतुर्वेदी, प्रधान सचिव ए.पी. सिंह, नितिन मदन कुलकर्णी, सचिव राहुल शर्मा, प्रवीण टोप्पो, के.के. सोन, अमिताभ कौशल, अबुबकर सिद्दीकी पी समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बार्सिलोना से करार खत्‍म करना चाहते हैं मेसी

बार्सिलोना : अर्जेंटीना के स्टार स्ट्राइकर लियोनल मेसी (33) ने स्पेनिश फुटबॉल क्लब बार्सिलोना को छोड़ने का मन बना लिया है। टीम के साथ उनका आगे पढ़ें »

कोहली से नहीं, पाकिस्‍तानी बल्‍लेबाजाे से करो मेरी तुलना : बाबर आजम

कराची : पाकिस्तान के सीमित ओवरों के कप्तान बाबर आजम भारतीय कप्तान विराट कोहली से लगातार तुलना से उकता गए हैं और उनका कहना है आगे पढ़ें »

ऊपर