कांग्रेस को स्वीकार नहीं तेजस्वी का नेतृत्व

Congress not accepting tejasvi's leadership

पटना : आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को अपना नेता मानने से इनकार कर दिया है। कांग्रेस के नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा है कि तेजस्वी के नेतृत्व ने चुनाव लड़ने का फैसला राजद का निजी फैसला है। कहा, हर पार्टी को अपना फैसला लेने का अधिकार है। गत लोकसभा चुनाव में महागठबंधन में राजद व तेजस्‍वी की बड़ी भूमिका पर कांग्रेस के शकील अहमद ने कहा कि अब नए परिवेश में नई कहानी लिखी जाएगी।

कांग्रेसियों ने तेजस्वी को हार की वजह मानी

मालूम हो कि लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की हार के बाद कांग्रेस व राजद के रिश्‍तों में पहले वाली बात नहीं रही। कांग्रेस के कई नेताओं ने हार के लिए तेजस्वी यादव को जिम्मेदार बताया था। कांग्रेस ने हार को लेकर जो समीक्षा बैठक की थी, उसमें बिहार में अकेले विधानसभा चुनाव लड़ने की मांग उठी थी। वहीं एक दिन पहले गुरुवार को आयोजित राजद के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में तय किया गया कि 2020 का बिहार विधानसभा चुनाव तेजस्वी यादव के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। पार्टी ने तेजस्‍वी को मुख्यमंत्री उम्मीदवार भी घोषित कर दिया। राजद की इस बात पर महागठबंधन के अन्‍य घटक दलों, खासकर कांग्रेस को आपत्ति है। कांग्रेस ने इसे राजद का ‘निजी फैसला’ करार देते हुए कहा है कि उसका इससे कोई लेना देना नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पीएम ने पूछा बंगाल में क्या हो रहा है

भाजपा नेता ने निजी सचिव को सौंपी न्यूज क्लिपिंग व वीडियो फुटेज सन्मार्ग संवाददाता अंडाल : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को झारखण्ड के दुमका जाने के क्रम आगे पढ़ें »

dhankhad

राज्यपाल ने मुख्य सचिव और डीजी को बुलाया

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पिछले 3 दिनों से राज्यभर में हिंसा जारी है। इसी बीच राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सोमवार को राज्य के मुख्य सचिव राजीव आगे पढ़ें »

ऊपर