चीन ने श्रीलंका को गिफ्ट किया युद्धपोत, हिंद महासागर में दबदबा बढ़ाने की कोशिश

Warship 'P-625'

बीजींग : चीन ने हिंद महासागर में अपना दबदबा बढ़ाने के लिये एक नयी चाल चली है, जिसके तहत उसने श्रीलंका को एक युद्धपोत गिफ्ट किया। पिछले कुछ सालों में चीन श्रीलंका के साथ सैन्य संबंधों को मजबूत कर रहा है। चीन द्वारा गिफ्ट किया गया युद्धपोत ‘पी-625’ कोलंबो पहुंच चुका है। इसके अलावा रेल के डिब्बे और इंजन बनाने वाली चीन की कंपनी ने घोषणा की है कि वह जल्द ही श्रीलंका को नए तरह की 9 डीजल ट्रेनें भी देगी।

गिफ्ट में दिया सेवानिवृत्त युद्धपोत

बता दें कि चीन ने 052 टाइप का युद्धपोत श्रीलंका को गिफ्ट किया है, जिसे चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी की नेवी में 1994 में शामिल किया था और 2015 में पीएलए नेवी ने इसे सेवानिवृत्त कर दिया था। अब 2300 टन के इस युद्धपोत को ही चीन ने श्रीलंका नेवी को गिफ्ट किया गया है। यह भी मालूम हो कि श्रीलंका पर भारी-भरकम कर्ज थोपने के बाद चीन ने 2017 में उसके हंबनटोटा पोर्ट का अधिग्रहण कर लिया था। जिसके बाद से ही उसकी नजर इस क्षेत्र में अपना दबदबा बढ़ाने पर है। वह लगातार हिंद महासागर में नौसेना की मौजूदगी बढ़ा रहा है। उसने जिबूती में एक बेस भी तैयार कर लिया है, जिसे वह फिलहाल एक लॉजिस्टिक्स बेस बता रहा है।

भारत ने भी श्रीलंका को गिफ्ट किया था जहाज

लिट्टे के खिलाफ संघर्ष में श्रीलंका की नौसेना ने अहम भूमिका निभाई थी। उसके पास करीब 50 लड़ाकू, सपॉर्ट शिप एवं तटीय इलाकों की निगरानी के लिए गश्ती प्लेन हैं, जो खास तौर पर भारत, अमेरिका, चीन और इजरायल से मिले हैं। पिछले साल ही भारत ने अपने इस मुख्य पड़ोसी की नौसेना को एक गश्ती जहाज गिफ्ट में दिया था। इससे पहले भी भारत ने साल 2006 तथा साल 2008 में 2 गश्ती पोत श्रीलंका को दिए थे।

अच्छी मित्रता का प्रतीक : श्रीलंका नेवी

चीन की एक रिपोर्ट के अनुसार श्रीलंका की नेवी के कमांडर वाइस एडमिरल पियल डीसिल्वा ने युद्धपोत के लिए चीन को धन्यवाद कहा है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उनकी सेनाएं इस गिफ्ट को दोनों देशों के बीच अच्छी मित्रता के संकेत के तौर पर लेंगी। डीसिल्वा ने बताया कि श्रीलंका इस समय समुद्री चुनौतियों का सामना कर रहा है। ड्रग तस्करी समेत अन्य गैरकानूनी गतिविधियों को अंजाम देकर संदिग्ध भाग जाते हैं। अब इस युद्धपोत के मिलने से नेवी की सर्विलांस क्षमता में काफी बढ़ोतरी होगी। इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि श्रीलंका की नेवी के नए सदस्य के तौर पर ‘पी-625’ युद्धपोत का इस्तेमाल मुख्य तौर पर समुद्र में गश्त, पर्यावरण संबंधी निगरानी और समुद्री लुटेरों के खिलाफ किया जाएगा।

चीन की नेवी ने श्रीलंका के अफसरों दिया प्रशिक्षण

चीन की नेवी ने श्रीलंका के 110 से ज्यादा नेवल अफसरों एवं नाविकों को 2 महीने शंघाई में प्रशिक्षण दिया है। यह जानकारी कोलंबो में स्थित चीन के मिशन द्वारा जारी की गयी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पत्नी ने च्युइंगम खाने से किया इनकार, पति ने दे दिया तलाक, मुकदमा दर्ज

लखनऊः जिला दीवानी अदालत में पेशी पर आये एक युवक ने वहां अपनी पत्नी को एक ऐसी वजह के कारण तलाक दे दिया जिसे लोग आगे पढ़ें »

tejasvi yadav

आरक्षण को लेकर आरएसएस एंव भाजपा की मंशा ठीक नहीं:तेजस्वी

पटना : बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आरक्षण के मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत के हालिया बयान आगे पढ़ें »

ऊपर