सेक्स के दौरान महिलाओं के स्तनों में आते है ये बदलाव

कोलकाता : जब हम सेक्स करते हैं, तो यह पूरे शरीर के लिए एक बेहतरीन अनुभव होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सेक्स के दौरान आपका शरीर कैसे प्रभावित होता है? आप सोचते होंगे कि सेक्स करने से सिर्फ महिलाओं की योनि में ही बदलाव आते हैं, लेकिन आपको बता दें कि उत्तेजना और रक्त प्रवाह के साथ हमारे शरीर में कुछ बदलाव जरूर आ जाते हैं। यहां तक कि बालों के रोम को गर्म सेक्स से भी एक अच्छा चार्ज मिलता है। साथ ही सेक्स करने के बाद महिलाओं के स्तनों में भी कई तरह के बदलाव आते हैं। कई बदलाव कुछ लंबे समय तक रहते हैं और कुछ बदलाव ऐसे होते हैं जो सिर्फ सेक्स के समय ही रहते हैं।

जबकि अधिकांश महिलाएं पहले से ही इस तथ्य से अवगत हैं कि उनके निपल्स उत्तेजित होने पर खड़े हो जाते हैं। सेक्स के दौरान हमारे पूरे शरीर में रक्त का प्रवाह तेजी से बढ़ जाता है। लेकिन सेक्स के बाद स्तनों में बदलाव होना एक सामान्य बात है। इसलिए आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है। आइए, जानते हैं कि महिलाओं के स्तनों में सेक्स के बाद क्या क्या बदलाव आते हैं?
अधिक संवेदनशील हो जाते हैं स्तन

सेक्स के दौरान हमारे शरीर में उत्तेजना बढ़ जाती है, जिसके कारण बड़े बदलाव होते हैं। महिलाओं के स्तन एरोजेनस ज़ोन होते हैं, तो वे तुरंत स्पर्श के प्रति अधिक संवेदनशील हो जाते हैं। यहां सिर्फ निपल्स के बारे में बात नहीं हो रही बल्कि एरोला, और पूरे स्तनों के बारे में बात हो रही है। सेक्स के दौरान स्तन में कई बदलाव आ जाते हैं।

बड़े हो जाते हैं

संभोग के दौरान शरीर चार अलग-अलग चरणों से गुजरता है : उत्तेजना, पठार, कामोन्माद और संकल्प। यह पठार चरण के दौरान है कि एक संभोग की प्रत्याशा में शरीर फैलता है और सूज जाता है। जबकि आपकी योनि इस चरण के दौरान अपने सामान्य आकार का लगभग दो-तिहाई विस्तार करती है। वहीं, सेक्स दौरान महिलाओं के स्तन भी बड़े हो जाते हैं।

एरोला सूज जाता है

न केवल महिलाओं के स्तन आकार में बढ़ते हैं, बल्कि सेक्स के दौरान महिलाओं के एरोला भी बढ़ते हैं। यह रक्त से भरे हुए स्तनों का एक संयोजन है जिसके परिणामस्वरूप आकार में परिवर्तन होता है। कभी-कभी एरोला इतना सूज सकता है कि ऐसा लग सकता है कि निपल्स अब खड़े नहीं हैं – जो कि ऐसा नहीं है। जब तक आप उत्तेजित होते हैं, वे निप्पल उसी तरह बने रहते हैं।

स्तन से आता है सुगंधित पसीना

सेक्स के दौरान एक बड़ा बदलाव यह भी आता है कि महिलाओं के स्तन से सुगंधित पसीना निकलता है। विज्ञान में इसे फेरोमोन कहते हैं। यानी यह एरोला में एपोक्राइन ग्रंथियां हैं जो फेरोमोन जारी कर रही हैं। जबकि आप वास्तव में इसे सचेत स्तर पर सूंघने में सक्षम नहीं हो सकते हैं, आप और आपका साथी दोनों इसका न पता लगा पाएंगे, इसे महसूस भी नहीं कर पाएंगे, और आप एक-दूसरे के प्रति और भी अधिक आकर्षित हो जाएंगे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः एक सप्ताह में बिना मास्क पहने घूम रहे 1278 लोगों पर हुई कार्रवाई

सड़क पर थूकने के आरोप में 65 लोगों का कटा चालान सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बीते एक सप्ताह में महानगर की सड़कों पर ब‌िना मास्क पहने हुए आगे पढ़ें »

ऊपर