क्या आप सभी तरह की मिठाइयां खा सकते हैं ?

टिप्स
यह सच है कि जितना कार्बोहाइड्रेट शक्कर में होता है उसका आपके रक्त शर्करा पर वही प्रभाव पड़ता है जितना प्रभाव अन्य वस्तुओं जैसे ब्रेड, आलू या फल में मौजूद कार्बोहाइड्रेट का पड़ता है। सभी कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थ समान मात्रा में एक ही तरीके से आपके रक्त शर्करा को बढ़ा देंगे भले ही आप को किसी भी टाइप की डायबिटीज हो। रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए  आप जितना कुल कार्बोहाइड्रेट खाते हैं, उस पर ही ध्यान दीजिए। इस पर ध्यान मत दीजिए कि यह कार्बोहाइड्रेट किस वस्तु में मिलता है। आप मिठाइयों को अपने आहार योजना में अन्य कार्बोहाइड्रेट स्रोतों के बदले लें उन्हें अलग से मत लें।

आप प्रत्येक आहार में मिठाइयों का सेवन न करें। मीठे आहारों में आपके शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्व,विटामिन्स तथा खनिज नहीं होते। यही वजह है कि हम इसे ‘निरर्थक’ कैलरीज कहते हैं। अगर आप अपने आहार में मिठाइयों को शामिल करते हैं तो मात्रा कम रखें तथा इसे खाने के 1-2 घंटा पहले एवं खाने के 1-2 घंटा बाद अपने ब्लड शुगर की जांच करें ताकि आपको पता चल सके कि इसका किस तरह आप पर प्रभाव पड़ता है। समय समय पर अपने वजन एवं ब्लड ग्लूकोज़ के स्तर पर ध्यान देते रहें। इसमें वृद्धि होते ही मिठाई खाने को स्थगित कर दें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टेस्ट सीरीज के लिये इंग्लैंड के क्रिकेटर भारत पहुंचे

चेन्नई : भारत के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले दो टेस्ट के लिये बुधवार को कप्तान जो रूट समेत इंग्लैंड क्रिकेट टीम आगे पढ़ें »

सीए ने फिर मांगी, कहा- भारतीय क्रिकेटरों पर हुई थी नस्लीय टिप्पणी

मेलबर्न : क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बुधवार को पुष्टि की कि सिडनी टेस्ट के दौरान भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज पर नस्लवादी टिप्पणी की गई थी आगे पढ़ें »

ऊपर