मंगलवार के दिन इन उपायों को करने से आर्थिक संकट होते हैं दूर, ऐसी है मान्यता

कोलकाता : ज्योतिष शास्त्र की माने तो दिन के अनुसार उपायों को करने से ग्रह तो मजबूत होते ही हैं साथ ही कई लाभ भी प्राप्त होते हैं। मंगलवार की बात करें तो ये दिन भगवान हनुमान को समर्पित है। कहते हैं इस दिन विधि विधान श्री राम भक्त हनुमान जी की पूजा करने से सारे दुखों से मुक्ति मिल जाती है। बजरंगबली की अराधना से मंगल दोष तो दूर होता ही है साथ ही कई परेशानियों से भी मुक्ति मिल जाती है। जानिए मंगलवार के सरल ज्योतिषीय उपाय। मंगलवार के दिन हनुमान जी का सिंदूर से पूजन करने से सारे दुख दूर हो जाते हैं। इस दिन पान का बीड़ा हनुमान जी को चढ़ाने से नौकरी संबंधी परेशानी दूर हो जाती है। इस दिन हनुमान जी को केवड़े का इत्र और गुलाब की माला चढ़ाने से धन-धान्य में बढ़ोतरी होती है। जीवन में सुख शांति बनी रहे इसके लिए मंगलवार के दिन हनुमा जी के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए। अगर शनि दोष से परेशान हैं तो मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर जाएं। वहां जाकर हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ करें। ऐसा करने से शनि देव परेशान नहीं करते। घर परिवार में सुख-शांति बनी रहे इसके लिए मंगलवार या शनिवार को हनुमान मंदिर में गुड़ और चना अर्पित करें। ऐसा लगातार 21 दिन तक करें और इसके बाद हनुमान जी को चोला चढ़ाएं। यदि आपको किसी भी प्रकार का भय है तो मंगलवार के दिन पूजा के समय ॐ हं हनुमंते नम: मंत्र का 108 बार जप करें। ऐसा करने से किसी भी प्रकार का भय नहीं रहता। धन-धान्य में वृद्धि की कामना के लिए मंगलवार के दिन सुबह पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाएं। इसके बाद तुलसी की माला से राम नाम का 11 माला जप अवश्य करें। मंगलवार के दिन बड़ के पेड़ का एक पत्ता लें और इसे साफ पानी से धो लें। फिर इस पत्ते पर केसर से श्रीराम लिखें। इसके बाद ये पत्ता अपने पर्स में रख लें। मान्यता है ऐसा करने से आपका पर्स कभी खाली नहीं रहेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

लगातार तीसरे साल देश का सबसे सुरक्षित शहर बना कोलकाता

एनसीआरबी की रिपोर्ट में हुआ खुलासा एनसीआरबी ने वर्ष 2020 के क्राइम रिकॉर्ड किये जारी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पूरे देश में एक बार फिर सबसे सुरक्षित शहर आगे पढ़ें »

ऊपर