वरमाला से पहले दुल्हन ने पूछा एक सवाल, नहीं बता पाया दूल्हा..लौटा दी बारात

उत्तर प्रदेश : शादियां टूटने की कई वजहें सामने आती रहती हैं। कभी ऐसा होता है कि दहेज की बात नहीं बन पाई तो कभी किसी और घटना के चलते शादी टूट गई लेकिन उत्तर प्रदेश से शादी टूटने की घटना तब सामने आई जब दूल्हा-दुल्हन स्टेज पर थे और दुल्हन ने एक सवाल पूछ लिया। यह पूरा मामला उत्तर प्रदेश के महोबा जिले का है, यहां खरेला थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी ने पुत्री की शादी पनवाड़ी थाना क्षेत्र के एक गांव में तय की थी। 30 अप्रैल की रात बारात लड़की पक्ष के दरवाजे पहुंची, इस दौरान बारातियों की खूब खातिरदारी हुई। इसी बीच जयमाल कार्यक्रम के दौरान दूल्हा अजीब हरकतें करने लगा, ये सब दुल्हन देख रही थी। दुल्हन ने जयमाला डालने से पहले दूल्हे से एक सवाल कर डाला। उसने कहा कि अगर वो इस सवाल का जवाब देगा तभी वो शादी करेगी। अगर जवाब नहीं दे पाया तो शादी नहीं करेगी। दरअसल, दुल्हन ने दूल्हे से दो का पहाड़ा सुनाने को कहा। दूल्हन के सवाल के बाद दूल्हे को तो पहले कुछ समझ नहीं आया। इसके बाद वह इधर-उधर देखने लगा और उसकी पोल खुल गई। फिर दुल्हन ने दूल्हे के साथ सात फेरे लेने से इनकार कर दिया और वरमाला नहीं पहनाया।
दुल्हन ने साफ मना कर दिया कि वह इससे शादी नहीं करेगी। इतना सुनते ही बारातियों के पांव से जमीन खिसक गई। खुशी का माहौल पूरा तनाव में बदल गया। किसी को समझ नहीं आ रहा था कि क्या निर्णय लिया जाए। दुल्हन ने कहा कि वह किसी ऐसे व्यक्ति से शादी नहीं कर सकती, जिसे गणित की मूल बातें भी पता नहीं हैं। घंटों चर्चा के बाद भी मामला नहीं सुलझ सका और पूरी रात दुल्हन को मनाने का प्रयास जारी रहा, लेकिन उसने नहीं सुनी। जब पुलिस को इसके बारे में पता चला तो समझाने का प्रयास किया गया, लेकिन लड़की ने बात नहीं मानी। आखिरकार लड़की की बात मान ली गई। लड़की पक्ष के लोग थाना पहुंच गए और मांग की कि शादी में जो रुपये खर्च हुए हैं, उसे वापस दिलाया जाए। थानाध्यक्ष विनोद कुमार का कहना है कि दोनों पक्षों की बात सुनी गई। उन्होंने बताया कि यह एक अरेंज मैरिज थी। थानाध्यक्ष विनोद कुमार ने बताया कि दोनों पक्षों के लोगों ने बातचीत की और समझौता किया गया। बातचीत में तय हुआ कि दोनों पक्ष के लोग एक-दूसरे को दिए गए उपहार और गहने वापस करेंगे। उनकी आपसी सहमति को देखते हुए पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया है। बताया जा रहा है कि यह सब इसलिए हुआ क्योंकि लड़की से झूठ बोला गया कि लड़का पढ़ा लिखा है। बारात के आने के बाद सारी रस्में भी शुरू हो गई थीं लेकिन लड़की को कहीं से भनक लगी कि लड़का उतना पढ़ा लिखा नहीं है, जितना बताया गया है। इसके बाद लड़की ने ठान लिया कि वह खुद इस बात की जानकारी लेगी। ठीक वरमाला से पहले लड़की ने लड़के से सवाल दाग दिया और वह बता भी नहीं पाया। लड़की का शक सही निकला, उसने तुरंत शादी करने से मना कर दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

उत्तर बंगाल को नहीं होने देंगे केंद्र शासित केंद्र : ममता

कोलकाता : केंद्र सरकार द्वारा उत्तर बंगाल को केंद्र शासित केंद्र करने की योजना पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जमाकर भड़की है। ममता ने साफ कहा आगे पढ़ें »

मुकुल को बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है तृणमूल

बनाए जा सकते है राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी की बढ़ाएंगे सक्रियता कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस में लौट कर आये मुकुल रॉय को पार्टी बड़ी आगे पढ़ें »

ऊपर