सात हजार विकेट लेने वाले गेंदबाज 85 साल की उम्र में क्रिकेट को कहेंगे अलविदा

west indies

लंदन : वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज व दिग्गज खिलाड़ी सेसिल राइट ने 85 वर्ष की उम्र में क्रिकेट से रिटारयमेंट लेने का निर्णय लिया है। राइट ने मंगलवार को कहा कि वह सात सितंबर को अपना आखिरी मुकाबला पेन्निने लीग में अपरमिल के लिए स्प्रिंगहेड के खिलाफ खेलेंगे। बता दें कि राइट ने अपना पहला मुकाबला जमैका के लिए गैरी सोबर्स और वेस हॉल जैसे दिग्गजों के खिलाफ प्रथम श्रेणी मैच में खेला था। बता दें कि 1959 में वे इंग्लैंड चले गए जहां उन्होंने तीन साल बाद सेंट्रल लैंकशायर लीग में क्रोमप्टॉन के लिए पेशेवर क्रिकेटर के तौर पर अपना करियर शुरू किया। राइट विवियन रिचर्ड्स और जोएल गार्नर जैसे दिग्गजों के साथ भी खेल चुके है।

राइट ने सात हजार से अधिक विकेट चटकाए

सेसिल राइट क्रिकेट करियर में 60 साल का लंबा सफर तय करने वाले एक अनुभवी खिलाड़ी है। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में सात हजार से अधिक विकेट लिए है। वो विकेट लेने में इतने तेज है कि पांच सीजन में ही उन्होंने 538 विकेट अपने नाम किए थे और उस दौरान उनका औसत 27 का रहा था।

रोजाना व्यायाम करता हूं – राइट

राइट ने बताया कि मेरे क्रिकेट करियर के बारे में मैं कुछ नहीं कह सकता हूं कि यह इतना लंबा कैसे चला। मैं बस इतना कह सकता हूं कि खाने में कुछ भी खा लेता हूं और कभी-कभी बीयर का सेवन करता था। साथ ही उन्होंने बताया कि मुझे लैंकशायर का खाना बहुत ही प्रिय है। मैं अपने सेहत को लेकर हमेशा तत्पर रहता हूं, मैं प्रत्येक दिन व्यायाम करता हूं।

टीवी देखने के बदले पैदल घूमना पंसद करता हूं – राइट

राइट ने कहा कि मैं अपनी फिटनेस इसलिए भी बरकरार रख पाया, क्योंकि मैंने कभी भी अपनी उम्र का बहाना नहीं बनाया। मैंने महसूस किया है कि खुद को सक्रिय रखने से दर्द से राहत मिलती हैं। मुझे टेलिविजन देखना पसंद नहीं, मैं टीवी की जगह पैदल घूमना पसंद करता हूं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘अम्फान’ से सबक लेकर आधारभूत संरचना को बेहतर करें, आपदा से निपटने पर ध्यान दें : एनडीआरएफ प्रमुख

कोलकाता : एनडीआरएफ के प्रमुख एस एन प्रधान ने कहा है कि पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कुछ हिस्सों में तबाही मचाने वाले चक्रवात ‘अम्फान’ आगे पढ़ें »

रियल एस्टेट सेक्टर को बड़े पैकेज की जरूरत, पीएम को पत्र लिखकर रखी मांगें

नई दिल्ली : कोरोना महामारी से चरमराई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए भारत सरकार और आरबीआई ने औद्योगिक सेक्टर्स के लिए कई अहम् आगे पढ़ें »

ऊपर