घर से भागी और तस्करी की शिकार लड़कियों को पनाह देगी बिहार सरकार

पटना : बिहार में घर से भागी और मानव तस्करी से मुक्त करायी गई लड़कियों के लिए रक्षा गृह खुलेगा। महिला एवं बाल विकास निगम सभी जिलों में रक्षा गृह खोलेगा। इन रक्षा गृह में 50 लड़कियों को रखने की व्यवस्था होगी। अभी बालिका गृह में घर भागी हुई, भूली भटकी और आपराधिक घटनाओं में संलिप्त लड़कियों को एक साथ रखा जाता है। इससे सामान्य लड़कियों को दिक्कत होती है। समाज कल्याण निदेशालय के निदेशक राजकुमार ने बताया कि सभी जिलों में रक्षा गृह बनेगा। उन्होंने बताया कि रक्षा गृह में सुरक्षा के साथ उनके हुनर को निखारने का काम किया जाएगा। मालूम हो कि महिला एवं बाल विकास निगम की ओर से पहले भी पांच जिलों में रक्षा गृह खोले गये थे। मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के बाद रक्षा गृह को बंद कर दिया गया था। इसके कारण घर से भागी और मानव तस्करी से मुक्त करायी गई लड़कियों को भूली भटकी लड़कियों के साथ रखा जाने लगा है। इसके कारण सामान्य लड़्कियां खुद को असहज महसूस करती हैं। भाग कर बाल विवाह करने वाली लड़कियों के लिए जीना मुश्किल हो रहा है। भागकर बाल विवाह करने वाली लड़कियों को न तो मायके वाले रखना चाहते हैं और न ही ससुराल वाले। ऐसी स्थिति में लड़की बालिका गृह में रहने को मजबूर हो रही है। नादानी में उठाए गए कदम उनके जिंदगी के नासूर बन जाता है।पढ़ाई, लिखाई से लेकर सामाजिक जीवन खत्म हो जाता है। इसके बाद उन्हें को आपराधिक प्रवृति वाली लड़कियों के साथ जीवन गुजर बसर करना पड़ता है। इन लड़कियों के लिए रक्षा गृह जिंदगी जीने की नई राह बनाएगा। उन्हें रक्षा गृह में पढ़ाई-लिखाई के साथ जीवन कौशल का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल जल्द बूस्टर डोज का परीक्षण करेगा

6 अस्पतालों ने जताई इच्छा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पश्चिम बंगाल सरकार महानगर में कोविड-19 रोधी टीके की बूस्टर खुराक का जल्द परीक्षण करने की योजना बना आगे पढ़ें »

ऊपर