एक ही चिता पर पति-पत्नी का अंतिम संस्कार, बेटे को बगल में दफनाया

गया : गुरारू थाना क्षेत्र के डीहा गांव के आर्मी जवान अपनी पत्नी और बेटे के साथ रविवार को सड़क हादसे का शिकार हो गए थे। इस हादसे में जवान पिंटू सिंह, उनकी पत्नी काजल देवी और पुत्र रेहान की मौत हो गई थी। सोमवार को जवान पिंटू सिंह, उनकी पत्नी काजल देवी व पुत्र रेहान का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान मौजूद हरेक शख्स की आखों में आंसू थे। विह्वल कर देने वाला दृश्य था कि एक साथ एक ही चिता पर पति-पत्नी का अंतिम संस्कार किया गया। बच्चे को भी वहीं बगल में दफनाया गया। बेहद ही मार्मिक वक्‍त में वहां मौजूद हर शख्‍स रो रहा था। अंतिम संस्कार की प्रक्रिया से पहले आर्मी जवान का शव गया आर्मी कैम्प में लाया गया। डीहा गांव से कई लोग सुबह से ही आर्मी कैम्प पहुंचे थे। दोपहर बाद तिरंगा में लिपटे पिंटू सिंह के शव को कोसडीहरा ले जाया गया। सेना के जवानों ने पुष्प चक्र अर्पित करते हुए दो मिनट का मौन रखकर उन्‍हें श्रद्धांजलि दी। ग्रामीणों ने नम आंखों के देश की सेवा में लगे इस लाल को अंतिम विदाई दी। बता दें कि पति-पत्नी को उनके भतीजे ने मुखाग्नि दी। आर्मी के जवान पिंटू कुमार और उनकी पत्नी काजल सिंह का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया, जबकि बच्चे का शव कुछ ही दूरी पर नदी में दफनाया गया। मृतक पिंटू कुमार मथुरा में आर्मी हॉस्पिटल में नर्सिंग स्टाफ थे और कुछ ही दिन पहले प्रमोशन होकर नायक बने थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुबह उठकर दोनों हाथों की ‘हथेलियों’ को देखने से भी बदलती है किस्मत

कोलकाता : सुबह उठकर हाथों की हथेलियों को देखना बहुत ही शुभ माना गया है। ऐसा प्रतिदिन करने से जीवन में मान सम्मान प्राप्त होता आगे पढ़ें »

आज से भक्तों के लिये खुल जायेंगे दक्षिणेश्वर मंदिर के कपाट

कोलकाता : कोलकाता के कालीघाट व मायापुर मंदिर के खुलने के बाद कोरोना के घटते ग्राफ को देखते हुए गुरुवार यानी आज से दक्षिणेश्वर मंदिर आगे पढ़ें »

ऊपर