बिहार विधानसभा चुनाव 2020: आज वोटिंग का पहला चरण, सुबह नौ बजे तक 6.74 % मतदान

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के पहले चरण में वोटिंग बूथ पर कड़ी सुरक्षा के बीच 6 जिलों में 71 विधानसभा सीटों के लिए बुधवार सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को अपने अधिकार का प्रयाग करने के साथ कोरोना गाइडलाइन को भी ध्यान में रखने की अपील की है। उधर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भी मतदान करने मंदिर पहुंचे।

बता दें कि बिहार चुनाव में 2 करोड़ 14 लाख 84 हजार 787 मतदाता ईवीएम वोटिंग मशीन के जरिए अपने मताधिकार का प्रयोग कर 1066 उम्मीदवारों के भाग्य का आज फैसला करेंगे। इन उम्मीदवारों में 8 मंत्री सहित 952 पुरुष व 114 महिला प्रत्याशी शामिल हैं।

आज, पहले चरण में, जिन 8 मंत्रियों के भाग्य का फैसला होना है, उनमें शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, कृषि मंत्री प्रेम कुमार, ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार, विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री जयकुमार सिंह, श्रम मंत्री विजय कुमार सिन्हा, खनन मंत्री बृजकिशोर बिंद, परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला और भूमि सुधार एवं राजस्व मंत्री राम नारायण मंडल शामिल हैं।

बताते चलें कि पहले चरण में जेडी-यू 35 सीटों पर, बीजेपी 29 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। उधर महागठबंधन में राजद ने 42, कांग्रेस ने 20 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं। पर पांच सीट राजनीतिक दृष्टिकोण से बेहद महत्वपूर्ण रहेंगे।

गया : पिछले 30 सालों में कोई भी भाजपा के इस गढ़ को तोड़ नहीं पाया है क्योंकि लोकप्रिय कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने लगातार छह बार इस सीट पर जीत हासिल की है। बता दें कि यह सीट इतना महत्वपूर्ण है कि हर बार एनडीए सरकार के सत्ता में आने के बाद उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल किया गया।

आज बिहार के मंत्री और भाजपा नेता प्रेम कुमार अपनी पार्टी के सिंबल के साथ मास्क पहनकर वोट डालने के लिए गया के एक मतदान केंद्र पर पहुंचे।

लखीसराय : इस सीट पर कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधी टक्कर देखने को मिलेगी। लगातार दो बार सीट जीतने के बाद श्रम संसाधन विभाग के मंत्री विजय कुमार सिन्हा यहां भाजपा के उम्मीदवार हैं। पिछले चुनाव में यहां भाजपा के विजय कुमार सिन्हा और जद (यू) के रामानंद मंडल के बीच एक करीबी लड़ाई हुई थी।

दिनारा : यहां जदयू के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के मंत्री जय कुमार सिंह का घर है। वह यहां से दो बार जीत चुके हैं। यहां से लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के टिकट पर उनके खिलाफ भाजपा के बागी राजेंद्र सिंह मैदान में उतरे हैं।

कहलगांव ; इस सीट पर कांग्रेस ने एक दो बार नहीं बल्कि 12 बार जीत दर्ज की है, पार्टी के बिहार इकाई के प्रमुख सदानंद सिंह को 1967 और 2015 के बीच नौ बार विजेता घोषित किया गया है। सदानंद सिंह यहां इतने लोकप्रिय हैं कि वे 1977 के चुनाव में भी जीते थे।

मोकामा : इस सीट से स्थानीय नेता और विधायक अनंत सिंह राजद के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। साल 2005 से 2010 तक सिंह ने जद (यू) के उम्मीदवार के रूप में सीट जीती। साल 2015 में जदयू से टिकट नहीं मिलने पर उन्होंने निर्दलीय के रूप में मैदान में उतरकर भी जीत हासिल की। बता दें कि 90 के दशक में सिंह के भाई दिलीप जनता दल के टिकट पर यहां से विधायक बने हैं। तब से सिंह चार बार इस सीट से जीत चुके हैं।

जमूई में लगभग 200 ईवीएम मशीन खराब

वहीं, जमुई से भाजपा उम्मीदवार और शूटर श्रेयसी सिंह वोट डालने जिले के नया गाँव में एक मतदान केंद्र पर पहुंचीं। बताते चलें कि हाल ही में श्रेयसी सिंह को भाजपा की सदस्यता प्राप्त हुई है। बताते चलें कि जमुई जिले में इस पर काफी संख्या में ईवीएम खराब होने की खबर सामने आ रही है। सूत्रों के अनुसार, जिले के 4 विधानसभा सीट में अब तक लगभग 200 मशीन खराब हो गए हैं। कई जगहों पर मशीन खराब रहने की वजह से मतदाता नाराज हो हंगामा करने पर उतर आए हैं।

बक्सर जिले में 9 बजे तक का वोटिंग प्रतिशत कुछ इस प्रकार है :

बक्सर विधानसभा- 6.80 %

राजपुर विधानसभा- 5.50 %

ब्रह्मपुर विधानसभा- 7.50 %

डुमराव विधानसभा- 8.10 %

शेयर करें

मुख्य समाचार

सर्दी के मौसम में वायरस से रहें दूर 

ठंड का मौसम आते ही सभी को चिंता सताने लगती है जरा सा बाहर निकलने पर ठंडी हवा से खांसी जुकाम आकर घेर लेता है आगे पढ़ें »

ड्रैगन अब म्‍यामांर की जमीन निगलने का रच रहा है जाल

नैप्यीडॉ : भारत और नेपाल की जमीन पर कब्‍जा करने के बाद अब आक्रामक चीन की नजर म्‍यामांर की जमीन को हथियाने पर है। चीन आगे पढ़ें »

ऊपर