इस वेट्रेस के बड़े बूब्स बने उसके लिए परेशानी का सबब….

कोलकाताः जिन महिलाओं के स्तनों का आकार कम होता है वो उसे बढ़ाने के लिए ब्रेस्ट इंप्लांट सर्जरी की मदद लेती हैं, लेकिन कुछ ऐसी भी महिलाएं हैं जिनके स्तनों का अत्यधिक बड़ा आकार उनके लिए परेशानी का सबब भी बन जाता है। दरअसल, 21 वर्षीय कार्ली स्मार्ट नाम की एक वेट्रेस के स्तन 36JJ है, जो उसके लिए अत्यधिक दर्द का कारण बन गए हैं। उसे ब्रेस्ट के आकार को कम करने में आर्थिक मदद देने से एनएचएस ने मना कर दिया है। कार्ली का कहना है कि उसके स्तनों का वजन डेढ़ पत्थरों का है, जिसके चलते उसके लिए घूमना-फिरना काफी मुश्किल हो जाता है और इससे उनका दैनिक जीवन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है।

वह कहती हैं कि वह अपने स्तन को कम करने की कोशिश कर रही थीं, लेकिन न्यूनतम 25 बीएमआई मानदंडों को पूरा नहीं करने के कारण एनएचएस ने फंडिंग से इनकार कर दिया था। 5 फीट 6 इंच की होने वाली दुल्हन ने कहा कि उस पर चकत्ते हैं जो उसकी त्वचा को लॉबस्टर लाल और सड़े हुए मांस की तरह गंध के साथ-साथ दर्दनाक पीठ दर्द से पीड़ित करते हैं। कार्ली ने कहा कि उसका बस्ट उसके दैनिक जीवन के रास्ते में आ जाता है, जिसमें काम भी शामिल है।

कार्ली अपने ब्रेस्ट को कम करने का सपना देख रही थीं, जो लगभग टूट सा गया है, क्योंकि सर्जरी की प्रक्रिया के लिए उसे £ 7,000 सुरक्षित करने हैं, लेकिन अभी तक वो सिर्फ £ 1,500 जमा कर पाई है। कार्ली की मानें तो एक बार उसे यह पता नहीं था कि उसके निप्पल गर्म केतली को छू रहे थे, यह उसके लिए काफी दर्दनाक पल था, क्योंकि उस समय उसके निप्पल लगभग जल से गए थे।

कार्ली का कहना है कि एक वेट्रेस की नौकरी में हमें एक वर्दी रखनी पड़ती थी, जो मेरे शरीर पर बिल्कुल भी फिट नहीं आ रही थी। आखिर में मुझे दो-तीन एक्स्ट्रा लार्ज पुरुषों के आकार की शर्ट लेनी पड़ी। एक बार मेरे शर्ट के सभी बटन कस्टमर्स के सामने खुल गए, जो मेरे लिए काफी शर्मनाक था। जब भी मैं बार में होती हूं और अतिरिक्त स्टॉक पाने के लिए नीचे झुकती हूं तो मेरे चेहरे पर मेरे स्तन आ जाते हैं, जिससे मेरा दम घुटने जैसा महसूस होने लगता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

हावड़ा में लॉरी के धक्के से सिविक वॉलंटियर की मौत 

हावड़ा : सांतरागाछी के बंद होने के कारण लोरियों को मुख्य सड़कों से भेजा जा रहा है। शुक्रवार की सुबह भी उलुबेढ़िया के वीरशिवपुर इलाक़े आगे पढ़ें »

दुर्गापुर स्टील प्लांट में हुई फिर दुर्घटना, ठेका श्रमिक के शरीर के हुए कई टुकड़े

दुर्गापुर : दुर्गापुर स्टील प्लांट में दुर्घटनाओं का सिलसिला लगातार जारी है। इसी क्रम में गुरुवार रात आरएमएचपी विभाग में कार्यरत सीनियर टेक्नीशियन आशुतोष घोषाल आगे पढ़ें »

ऊपर